Wed. Jul 24th, 2024

श्री हनुमान जन्मोत्सव दिवस को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया जाए ।  सुरेश सोन्थालिया का प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह 

S

आज भगवान श्री हनुमान के जन्मोत्सव को देश भर में बेहद उल्लास और उमंग के साथ मनाया जा रहा है ।एक मोटे अनुमान के अनुसार आज देश के सभी राज्यों में श्री हनुमान जन्मोत्सव के लगभग 1.5 लाख से ज़्यादा बड़े – छोटे कार्यक्रम आयोजित हुए वहीं दिल्ली में लगभग 5 हज़ार से ज़्यादा कार्यक्रम आयोजित किये गए !

देश के वरिष्ठ एवं प्रमुख व्यापारी नेता तथा कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय सचिव सुरेश सोन्थालिया ने आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया है की श्री हनुमान जी के प्रति लोगों की अगाध श्रद्धा एवं समर्पण को देखते हुए श्री हनुमान जी के जन्म दिवस को राजकीय अवकाश घोषित किया जाए ।
सोन्थालिया ने कहा की श्री हनुमान जी का जीवन एवं मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के प्रति उनकी दुर्लभ भक्ति एवं अनुराग भारत की युगों पुरानी प्राचीन सभ्यता एवं संस्कृति को प्रतिबिम्बित करती है और देश के लोगों को श्री हनुमान जी से बेहद प्रेरणा मिलती है, इस दृष्टि से प्रतिवर्ष श्री हनुमान जी के जन्मोत्सव के दिन को सार्वजनिक अवकाश घोषित करना सर्वथा उचित है तथा देश के करोड़ों लोगों की आकांक्षाओं और आशाओं की पूर्ति है ! उन्होंने कहा की श्री हनुमान जी भारत में ही नहीं बल्कि प्राय: सभी देशों में अत्यंत आत्मीय भाव से पूजे जाते हैं और हिन्दू धर्म के सभी धार्मिक कार्यक्रमों में श्री हनुमान जी का आव्हान होता है इसलिए भी श्री हनुमान जी के जन्म दिवस को राजकीय अवकाश घोषित करना सरकार का बेहद उचित कदम होगा !

सोन्थालिया ने स्पष्ट करते हुए कहा की श्री हनुमान जी का जन्म दिवस जयंती नहीं है बल्कि जन्मोत्सव है क्योंकि जो लोग दिवंगत हो जाते हैं जयंती उनकी होती है जबकि भगवान श्री राम एवं देवी सीता के आशीर्वाद से श्री हनुमान जी अजर अमर हैं, इस वजह से उनका जन्म दिन जयंती नहीं बल्कि जन्मोत्सव के रूप में ही मनाया जाना चाहिए ।
श्री हनुमान जन्मोत्सव कार्यक्रमों की कड़ी में आज पूरे देश के साथ झारखण्ड में भी श्री हनुमान जन्मोत्सव का बृहद कार्यक्रम आयोजित किया ।

Related Post