Thu. Jul 18th, 2024

बारेसांढ़ में 52वर्षो से हो रही है दुर्गा पूजा

*बारेसांढ़ में 52वर्षो से हो रही है दुर्गा पूजा*

गारू संवाददाता रामदयाल यादव की रिपोर्ट

गारू

 

बारेसांढ़ बाजार में पिछले 52 वर्षों से मां दुर्गा की पूजा अर्चना की जा रही है।इस मंदिर में मां दुर्गा की पूजा की जाती है।यहा पर किसी प्रकार की बलि प्रथा नही है,नवरात्र के पूरे नौ दिनों तक विधि विधान से मां दुर्गा की पूजा की जाती है।दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष चंदन प्रसाद ने बताया कि रामेश्वर साव व कृष्णा प्रसाद ने मिलजुलकर वर्ष 1970 में दुर्गा पूजा शुरू की थी।लेकिन किसी कारण वश 1984 में दो गुटों में विभाजित होकर बस स्टैंड बारेसांढ़ में मनाया जाता है।शुरुआती दौर में झोपड़ी व घास फूस की छावनी बना कर पूजा की जाती थी।उसके बाद 1985 में खपड़ैल का छोटा सा घर बनाकर पूजा की गई।बाद में पूजा समिति ने मिलजुलकर 1988 में पक्का मंदिर का निर्माण करवाया गया।यहा पर मां दुर्गा की पूजा अर्चना करने लोग दूर दराज के सुदरवर्ती क्षेत्रों ग्रामीण इलाके से आते है।कहा जाता है कि मां दुर्गा की पूजा पूरे सारधा भाव से करने वालो पर मां दुर्गा की विशेष कृपा रहती है।कोषाध्यक्ष राजेश प्रसाद ने बताया कि बारेसांढ़ बाजार स्थित मंदिर में मां दुर्गा को मनोकामना देवी के रूप में माना जाता है।बड़े बुजुर्ग विश्वनाथ यादव ने बताया कि रामेश्वर साव व कृष्णा प्रसाद के बीच आपसी विवाद को लेकर दो गुटों में बारेसांढ़ में दुर्गा पूजा मनाया जाता है।दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष चंदन प्रसाद,सचिव रंजन यादव, कोषाध्यक्ष राजेश प्रसाद ने बताया कि सर्द्धालुओ के द्वारा माँ दुर्गा की पूजा की जा रही है

Related Post