Sun. Jul 21st, 2024

गारू प्रखंड अंतर्गत आधा से अधिक जलमीनार खराब*  *जनप्रतिनिधि को अश्वस्त कराने के वावजूद नही बन पा रहा है जलमीनार

*गारू प्रखंड अंतर्गत आधा से अधिक जलमीनार खराब*

 

*जनप्रतिनिधि को अश्वस्त कराने के वावजूद नही बन पा रहा है जलमीनार*

 

गारू रामदयाल यादव की रिपोर्ट

 

गारू प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्रामीण इलाकों में 2-3 वर्षो से आधा से अधिक जलमीनार खराब है।प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत अति सुद्रवर्ती गांव जैसे बारीबांध,मिरचैया,मंगरा,सुरकुमी,डेढ़गांव समेत सारे टोले मुहल्ले में गारू प्रखंड क्षेत्र में आधा से अधिक जलमीनार खराब है।आदिम जनजाति ब्रिजिया जाती के लोग अति सुदूरवर्ती जंगल क्षेत्रों में निवास करते है।ग्राम प्रधान नारायण सिंह ने कहा कि प्रखंड क्षेत्र में अधिकांश जलमीनार खराब है,जिस ओर ना तो जनप्रतिनिधि का और नही प्रशासन की नजर है जिससे ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाले लोगो को शुद्ध पेयजल तथा मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव है।बताते चले कि चुआ की गन्दा पानी पीने से डायरिया,हैजा,बुखार जैसी समस्याओं से झूझना पड़ता है।ग्रामीण क्षेत्र में समय पर चिकित्सा की सुविधा ना होने से कई बार मौके पर ही मरीज की मौत हो जाती है।बहुत ऐसा ग्रामीण क्षेत्र है जहाँ सड़क जैसी सुविधाओ का घोर अभाव जिसके चलते एम्बुलेंस की सेवा नही मिल पाती है

जिससे मरीज की समय पर इलाज नही हो पाता है। कनीय अभियंता महेंद्र राम से फ़ोन से संपर्क साधने पर उन्होंने बताया कि जिला से लगा जलमीनार का फंड नही आया है।फंड से मरोम्मति आयेगा तो मरोम्मति किया जाएगा और उन्होंने कहा कि विभाग से भी कोई आवंटन प्राप्त नही हुआ है।जिससे जलमीनार की मरोम्मति तभी हो पायेगा,जब जिला से फंड मिलेगा ।ग्रामीणों ने उपायुक्त लातेहार से जलमीनार की मरोम्मति कराने की मांग की है।

Related Post