Tue. Jul 23rd, 2024

चंदवा प्रखंड अंतर्गत माल्हन पंचायत के डीएमएफटी योजना के चर्चित अभिकर्ता सह कनीय अभियंता मनीष कुमार का एक और कारनामा

चंदवा प्रखंड अंतर्गत माल्हन पंचायत के डीएमएफटी योजना के चर्चित अभिकर्ता सह कनीय अभियंता मनीष कुमार का एक और कारनामा

 

चंदवा संवाददाता मुकेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

 

*तालाब के जमीन के मालिक से योजना पास करवाने के नाम पर बिचौलिए द्वारा वसूल करवाए 26000 रुपए*

 

 

 

चंदवा प्रखंड के मालहन पंचायत में डीएमएफटी योजना अंतर्गत विभागीय स्तर से खुदवाए गए तालाब निर्माण कार्य में भोले भाले गरीब ग्रामीणों को ठग एवं बेवकूफ बनाकर तालाब निर्माण योजना में घोर अनियमितता बरतते हुए सरकारी राशि की लूट एवं बंदरबांट करने का एक और मामला सामने आया है।

माल्हन पंचायत में अवस्थित गनियारी गांव के अत्यंत सुदूरवर्ती टोला दालचुआ में डीएमएफटी फंड की राशि से एक तालाब का निर्माण कार्य करवाया गया है। इस तालाब निर्माण कार्य का योजना संख्या 169/21-22 तथा योजना का नाम ‘बलकु गंझू का तालाब निर्माण’ है। उक्त योजना को 200/200 फीट के आकार का खोदा जाना था परंतु यहां अभियंता ने मनमानी करते हुए पैसे बचाने के लिए एक साइड की मेड़ जिधर नाला और निची जमीन थी उधर लगभग साढ़े तीन – तीन सौ फीट का मेड़ बना दिया और जिधर ऊंची जमीन और ज्यादा मिट्टी थी वहां मात्र 50 फीट का मेड़ बनाया।

इस चर्चित अभियंता ने जिस तरह योजनाओं को अंजाम देकर सरकारी राशि को लूटा है उसे देखकर लगता है कि सरकारी नियम- कानून इसके लिए कोई मायने नहीं रखते और वह जो चाहे या कर दे वही नियम और कानून है।

तालाबों की जांच के क्रम में जब यह संवाददाता वहां पहुंचा और जमीन मालिकों से बात की तो वह हैरान रह गया। इस खोदे गए तालाब के जमीन मालिक बलकु गंझु और उसके भतीजे रितन गंझू ने संवाददाता से कहा कि वे उनके पैसे निकलवा दे जब संवाददाता ने बताया कि क्या आप लोगों को पता नहीं है कि इस तालाब के रुपए निकाल लिए गए हैं तो उन्होंने कहा कि नहीं यहां जो बिचौलिया काम करवाने आता है उसने कहा है कि अभी एक भी रुपया नहीं निकला है। हम लोगों से उसने तालाब पास करवाने के नाम पर साहब को देने के लिए 25000, जेसीबी में डीजल भरवाने के लिए 1000 तथा उनके गांव स्थित छोटे से दुकान से चावल तथा राशन के अन्य सामान भी लिए हैं। दुकान से लिए गए सामानों एवं रुपयों का भी भुगतान इन्होंने हम लोगों को नहीं किया है। उनके साथ मौजूद वहां के एक अन्य ग्रामीण झुबरा गंझू ने बताया कि बाबू हम कई दिन इस तालाब में मजदूरी किए हैं वह पैसा भी हम लोग को नहीं दिया है कहता है कि पैसा नहीं निकला है।

राजधानी न्यूज संवाददाता ने जब उन लोगों को बताया कि विगत मार्च महीने में ही इस तालाब से 10 लाख रुपए की राशि निकाल ली गई है। तो वहां मौजूद बल्कु गंझु उसका भतीजा रीतन गंझू रीतन गंझू की पत्नी एवं बेटी तथा मजदूर सन्तोष गंझू एवं अन्य ग्रामीण हाय-हाय करने लगे तथा संवाददाता से उनके रुपए निकलवा देने एवं तालाब को ठीक से बनवा देने की विनती करने लगे।

विदित हो की राजधानी न्यूज ने माल्हन पंचायत के डीएमएफटी फंड से ली गई योजनाओं में की गई लूट तथा बंदरबांट के पर्दाफाश करने का बीड़ा उठाया है। और चमकता हिंदुस्तान लगातार आपको यहां किए गए अनियमितता, लूट एवं बंदरबांट की खबरें देता रहेगा।

Related Post