Fri. Jul 19th, 2024

चंदवा के माल्हन पंचायत की डीएमएफटी तलाब में बंदर बाट से हड़कम्प *जेई ने वरीय पदाधिकारी को बतलाया कि दूसरे जगह पर तलाब निर्माण करया गया है।

चंदवा के माल्हन पंचायत की डीएमएफटी तलाब में बंदर बाट से हड़कम्प

 

*जेई ने वरीय पदाधिकारी को बतलाया कि दूसरे जगह पर तलाब निर्माण करया गया है। **

चंदवा संवाददाता मुकेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

 

चंदवा। चंदवा प्रखण्ड के माल्हन पंचायत में तलाब निर्माण करने में 1 इंच भी मिट्टी नहीं खुदाई हुई और निकालकर बंदरबांट कर लिए गए 10 लाख रुपए। शीर्षक से अखबार में खबर छपते ही योजना का इकरारनामा करने वाले अभियंताओं एवं बिचौलियों में हड़कंप मच गया है और वह आनन-फानन में तालाब खुदवा कर या दूसरे जगह खोदी गई तालाब को दिखला कर पुण: सेटिंग- गेटिंग की कोशिशें कर मामले की लीपापोती का प्रयास कर रहे हैं। इस संबंध में योजना का इकरारनामा करने वाले चर्चित कनीय अभियंता मनीष कुमार अपने उच्चाधिकारियों को भी गुमराह कर रहे हैं।

इस संबंध में कार्यकारी एजेंसी एनआरईपी के कार्यपालक अभियंता दीपक कुमार से बात की गई तो उन्होंने स्वीकार किया की राशि की निकासी की जा चुकी है और उन्होंने यह भी कहा कि कनीय अभियंता ने बतलाया है कि उन्होंने उक्त तालाब को दूसरे जगह खुदवाया है। वे शीघ्र ही योजना स्थल में जांच के लिए जायेगे।

कार्यपालक अभियंता की बात से यह साबित हो गया की तालाब अपने निर्धारित स्थल ( खाता,प्लॉट,रकबा में) जिस का ब्यौरा योजना के दस्तावेज(रेकर्ड) में दिया गया है खोदे बिना ही योजना की सारी राशि की लूट एवं बंदरबांट कर ली गई है। ऐसे में अब देखना है की अभियंता एवं बिचौलिए बचने के लिए कौन सा तिकड़म लगाते हैं और जिला प्रशासन दोषी लोगों पर क्या कार्रवाई करती है?

वैसे चंदवा प्रखंड के माल्हन पंचायत में सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में बरती गई अनियमितता लूट एवं बंदरबांट कि यह कोई अंतिम अध्याय की कड़ी नहीं है बल्कि यह शुरुआत है आजाद सिपाही आपको लगातार इस पंचायत में संचालित विकास योजनाओं में लूट की खबरें देता रहेगा।

Related Post