Mon. Jul 22nd, 2024

केरी गांव के ग्रामीणो ने बालूमाथ सीओ का किया घेराव

*केरी गांव के ग्रामीणो ने बालूमाथ सीओ का किया घेराव*

मूरपा से प्रफुल पांडे की रिपोर्ट

*ग्रामीणो ने उग्र आंदोलन करने की बात करी, सीओ के आश्वासन के बाद ग्रामीण ने ब्लॉक परिसर से हटी*

 

*ग्रामीणो की संख्या करीब 400जिसमे पुरुष एवं महिलाऐ शामिल रहीं*

 

मूरपा/ बालूमाथ: बालूमाथ प्रखंड क्षेत्र के भगेया पंचायत के केरी गांव मे आज सीओ आफताब आलम के समक्ष केरी के ग्रामीणो ने धरना-प्रदर्शन किया। बताते चले कि बीते सप्ताह जया जयसवाल ने केरी गांव के खाता नंबर 221 प्लॉट नंबर 1445 मे रकबा 1एकड 66डीसमिल, और प्लॉट 1452 मे 6एकड 40 डिसमिल है। जो बिहार अनावाद के नाम से है। ये जमीन मे जया जयसवाल के द्वारा जोत कोड बिते दिन किया गया था। वही गांव के बुजुर्ग बुद्धदेव उरांव का कहना है कि ये जमीन आज 70 वर्षो से परती है और इसमे बाजार लगा करता था और बच्चे लोग इसी मे फुटबॉल वगैरह खेल खेला करते थे ।वही धनेश्वर भुईया का कहना है कि जयसवाल के द्वारा सात लोगो पर जो केस दर्ज कराई गयी वो बेबुनियाद है। वही टैगा उरांव ने कहा कि संजय राम, रामकिशुन राम, विजय राम, मनबहाल गंझु, शुकरा उरांव, ललकु उरांव, मनराज गंझु पर जो झूठा केस दर्ज कराई गयी इसी झुठे आरोप पर हम सब ग्रामीणो ने सीओ के समक्ष अपनी बात रखी। वही सीओ आफताब आलम ने ग्रामीणो की बात सुनते हुए उन्हे आश्वस्त किया कि ये जमीन ग्रामीणो का है और ये जमीन ग्रामीणो का ही रहेगा। वही जया जयसवाल ने सीओ के समक्ष अपनी गलती को स्वीकार करते हुए केस वापस करने की बात कही। वही गांव के पाहन घूजन पाहन ने सीओ को कहा कि पूजा स्थल माडरं बर को भी जया जयसवाल के द्वारा टंडवा थानान्तर्गत नवादा गांव के तुलसी महतो को बेच दिया गया जो सरासर गलत है। वही ग्रामीणो ने सामुहिक रूप से कहा कि अगर तत्काल सीओ सर के द्वारा मामले को निष्पादन नही किया जाता है तो उग्र आंदोलन किया जाऐगा। वही महिलाओ ने भी बढ चढ कर सीओ के सामने अपनी बात रखी।

Related Post