Wed. Jul 24th, 2024

बच्चों के अभिभावकों ने स्कूल के शिक्षकों पर एक साल से छात्रवृत्ति नहीं देने के साथ-साथ बच्चों को अंडा और फल नहीं देने का लगाया आरोप।

बच्चों के अभिभावकों ने स्कूल के शिक्षकों पर एक साल से छात्रवृत्ति नहीं देने के साथ-साथ बच्चों को अंडा और फल नहीं देने का लगाया आरोप।

लातेहार संवाददाता राहुल पांडे की रिपोर्ट

लातेहार सदर प्रखंड के नेवाड़ी पंचायत के समीप नवाटोली ओवर ग्राम के उत्क्रमित प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों पर बच्चों के अभिभावकों ने सरकार के द्वारा मिलने वाला छात्रवृत्ति का पैसा एक साल से नही देने के साथ-साथ चार माह से अंडा और फल नहीं देने का आरोप लगाया है। वही बच्चों के अभिभावक भगवती देवी सुमन देवी गुड़िया देवी कंधो देवी रायमुनि देवी अनुराधा देवी गुड़िया देवी नीतू देवी सुरजी देवी विमला देवी सोनी देवी संतोष नायक समेत अन्य अभिभावकों ने बताया कि स्कूल में गांव के ही शिक्षक होने के कारण बच्चों के साथ आय दिन मनमानी किया जा रहा है ना तो बच्चों को सही शिक्षा दी जा रही है नाही सरकार के द्वारा मिलने वाला छात्रवृत्ति का पैसा एक साल से बच्चों को वंचित कर दिया गया है यहां तक की बच्चों को जो पोस्टिक आहार अंडा और फल मिलना था ओ भी चार माह से नहीं मिल रहा है जब हम लोग ने इस विषय में स्कूल के शिक्षक से पूछने गए तो उनके द्वारा बोला गया कि बच्चों का पासबुक बनाएं जबकि हम लोगों ने पासबुक बनाने के लिए ढाई सौ रुपया भी दिया जिसके बावजूद भी आज तक पासबुक नहीं बनाया गया। आगे अभिभावकों ने बताया कि दो साल करोना काल होने के कारण स्कूल बंद हो गया । सरकार के द्वारा बच्चों को मध्यान भोजन का पैसा जो मिलना था वह भी शिक्षकों ने बच्चों को ना देकर पैसा का बंदरबांट कर लिया गया जब हम लोग पूछताछ करने जाते हैं तो बोला जाता है कि आप लोगों को ज्यादा परेशानी है तो आप लोग बच्चों को दूसरे जगह एडमिशन कराले । इस संबंध मे स्कूल के शिक्षक ज्योति कुजूर से पूछे जाने पर बताया कि करोना काल मैं जो पैसा आया था वह पैसा कम था जिस कारण बच्चों को वितरण नहीं किया गया है। बच्चों का पासबुक नहीं होने के कारण बच्चों को छात्रवृत्ति का लाभ नहीं मिल पा रहा है

Related Post