Fri. Jul 26th, 2024

राँची से जयपुर के लिए सीधी उड़ान शुरू करने के लिए सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज लगातार प्रयासरत, झारखंड के सभी सांसदों से बिरसा मुंडा की धरती रांची से गुलाबी नगरी जयपुर तक विमान सेवा शुरू काराने का किया गया अनुरोध

जमशेदपुर: सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने बिरसा मुंडा की धरती रांची से गुलाबी नगरी जयपुर तक विमान सेवा शुरू करने हेतु लगातार प्रयासरत है। सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष विजय आंनद मुनका ने बताया
की झारखंड के सभी सांसदों को अनुरोध किया गया है। क्रमशः
अर्जुन मुंडा – केंद्रीय मंत्री सह सांसद खूंटी, श्री विद्युत वरण महतो- सांसद जमशेदपुर, श्री महेश पोद्दार – राज्यसभा सांसद, श्री विजय हांसदा- सांसद राजमहल , श्री सुनील सोरेन – सांसद दुमका, श्री निशिकांत दुबे- सांसद गोड्डा, श्री सुनील कुमार सिंह- सांसद चतरा, श्री अन्नपूर्णा देवी- सांसद कोडरमा, श्री चंद्रप्रकाश चौधरी- सांसद गिरिडीह, श्री पी० एन० सिंह- सांसद धनबाद, श्री संजय सेठ- सांसद रांची, श्रीमति गीता कोड़ा- सांसद सिंहभूम, श्री जयंत सिन्हा- सांसद हजारीबाग, श्री सुदर्शन भगत- सांसद लोहरदगा, श्री विष्णु दयाल राम- सांसद पलामू ।

उन्होंने कहा की चैंबर के सदस्यों के साथ-साथ झारखंड राज्य में रहने वाले राजस्थान के मूल निवासियों, साथ पूरे झारखंड से आए दिन लोगो का आना जाना जयपुर लगा रहता है।

उन्होंने कहा की पहले चरण में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्‍योतिरादित्‍य एम. सिंधिया, दूसरे चरण में माननीय मुख्यमंत्री राजस्थान श्री अशोक गहलोत, माननीय मुख्यमंत्री झारखंड श्री हेमंत सोरेन से राँची से जयपुर के लिए सीधी उड़ान शुरू करने का अनुरोध किया गया था। तृतीय चरण में सभी सांसदों को पत्राचार कर राँची से जयपुर के लिए सीधी उड़ान शुरू करने का अनुरोध किया है।

उन्होंने बताया की झारखंड राज्य से बड़ी संख्या में लोग राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में से आते हैं विशेष रूप से जयपुर, सालासर, खाटू, झुनझुनू, अजमेर, कोटा आदि, दुर्भाग्य से जयपुर के लिए कोई भी सीधी उड़ान नहीं है, जिसके परिणामस्वरूप अनिवार्य रूप से ट्रेन में सवार होना पड़ता है या कोलकाता से उड़ानें लेनी पड़ती हैं। यह वास्तव में बहुत समय लेता है और आपात स्थिति में लोग जयपुर या राजस्थान के किसी भी हिस्से में समय पर नहीं पहुंच पाते हैं। राजस्थान तीर्थ यात्रा के लिए धार्मिक स्थल होने के साथ-साथ पर्यटन एवं शिक्षण संस्थान के लिए भी प्रसिद्ध है और यही कारण है कि रांची से जयपुर के लिए सीधी उड़ान अनिवार्य रूप से अति आवश्यक है।

उन्होंने कहा की सीधी उड़ान ( बिरसा मुंडा की धरती रांची से गुलाबी नगरी जयपुर राजस्थान) शुरू हो जाने से न केवल झारखंड के विभिन्न हिस्सों से जयपुर तक जल्द से जल्द जयपुर की यात्रा की सुविधा प्रदान होगा, बल्कि सरकार के लिए राजस्व का एक बड़ा स्रोत भी होगा।
उन्होंने कहा की चैम्बर को पूर्ण रूप से उनपर विश्वास है की जल्द ही वे इस दिशा में सकारात्मक पहल करेंगे।

Related Post