Wed. Jul 24th, 2024

संविधान दिवस पर गारू प्रखंड व अंचल कर्मियों ने ली शपथ

*संविधान दिवस पर गारू प्रखंड व अंचल कर्मियों ने ली शपथ*

*गारू*संवाददाता उमेश यादव की रिपोर्ट

संविधान दिवस पर गारू प्रखंड कार्यालय में प्रखंड व अंचल कर्मियों ने संविधान के प्रस्तावना को पढ़ते हुए शपथ ली हैं। प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रताप टोप्पो ने इस दिन को विशेष दिन बताया हैं। उन्होंने कहा कि आजाद भारत के इतिहास में 26 नवंबर का दिन खास है।

यही वह दिन है, जब गुलामी की जंजीरों से आजाद होकर अपने आजाद अस्तित्व को आकार देने का प्रयास कर रहे राष्ट्र ने संविधान को अंगीकार किया था।

आज के दिन को संविधान दिवस के रूप में मानने का एक मात्र बड़ा कारण वेस्टर्न कल्चर के दौर में देश के युवाओं के बीच में संविधान के मूल्यों को बढ़ावा देना है। इसी दिन संविधान सभा ने इसे अपनी स्वीकृति दी थी। इस वजह से इस दिन को संविधान दिवस के तौर पर मनाया जाता है। भारत में दो साल 11 महीने और 18 दिन की लंबी मेहनत के बाद संविधान तैयार किया गया था। भारतीय संविधान देश के सभी नागरिकों को हर क्षेत्र में समानता का अधिकार देता है। 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान तैयार हुआ था और साल 1950 में 26 जनवरी के दिन इसे लागू किया गया था।

बताते चलें कि, भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है। संविधान सभा के प्रमुख सदस्यों में पंडित जवाहरलाल नेहरू, डॉ भीमराव अंबेडकर, डॉ राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि थे। इस दौरान अंचलाधिकारी शम्भू राम, ऑपरेटर संतोष कुमार, अनुप समुद्वार,सहित अन्य प्रखंड कर्मीगण एवं अंचल कर्मी गण उपस्थित थे।

Related Post