पूर्व केंद्रीय मंत्री काजी रशीद मसूद का निधन, कुछ दिनों पहले कोरोना को दी थी मात

0
322

UP:पूर्व केंद्रीय मंत्री काजी रशीद मसूद का सोमवार को रुड़की अस्पताल में निधन हो गया. वो पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे. काजी रशीद लंबे समय तक सहारनपुर वेस्ट यूपी की राजनीतिक धुरी रहे. उनकी लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि वे नौ बार सांसद चुने गए और केंद्रीय मंत्री भी बने. काजी रशीद मसूद को 2 दिन पहले ही रुड़की अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जैसे ही उनकी निधन की खबर समर्थकों तक पहुंची, उनके बीच शोक की लहर दौड़ गई.

रशीद मसूद हार्ट और किडनी जैसी कई बीमारियों से जूझ रहे थे. पैतृक निवास गंगोह में उन्हें सपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. इससे पहले अगस्त महीने में ही वो कोरोना पॉजिटिव भी पाए गए थे. उन्हें दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद वे ठीक हो गए.

परिजनों के मुताबिक शनिवार को एक बार फिर उनकी तबीयत खराब हुई. जिसके बाद उन्हें रुड़की स्थित हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. जहां सोमवार को उनका निधन हो गया.

काजी रशीद मसूद 1977 में पहली बार जनता पार्टी के टिकट पर सहारनपुर लोकसभा सीट से सांसद चुने गए थे. इसके बाद 1980, 1989, 1991 और 2004 में भी सहारनपुर लोकसभा सीट से ही सांसद चुने गए, जबकि चार बार राज्यसभा सदस्य रहे. वहीं 1996, 1998, 99 और 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्हें हार का भी सामना करना पड़ा.

काजी रशीद मसूद का सियासी सफर पांच दशकों तक चला. वह वीपी सिंह से लेकर मुलायम सिंह यादव के साथी रहे. वह 1990 और 91 में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री भी रहे. 1994 में वह मुलायम के करीब आए और समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए. 2012 यूपी विधानसभा चुनाव से ठीक पहले वह कांग्रेस में आ गए.