Thu. Jul 18th, 2024

सिंहभूम चैम्बर ने पावर हाउस नंबर-3 गेट जुगसलाई के पास स्पीड ब्रेकरों को बदलने हेतु जुस्को एमडी का किया ध्यानाकृष्ट

सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने टाटा स्टील पावर हाउस नंबर-3 गेट, जुगसलाई के सामने जुस्को द्वारा बनाये गये स्पीड ब्रेकरों से राहगीरों को हो रही परेशानी से जुस्को के प्रबंध निदेशक रितुराज सिन्हा को अवगत कराते हुये पत्र के माध्यम से आग्रह किया है कि इन स्पीड ब्रेकरों को बदलकर इसके स्थान पर कम झटके देने वाले सामान्य स्पीड ब्रेकरों को लगाने की मांग की है। यह जानकारी अध्यक्ष विजय आनंद मूनाक एवं मानद महासचिव मानव केडिया ने दी।

 

अध्यक्ष विजय आनंद मूनका ने कहा कि टाटा स्टील पावर हाउस नंबर-3 गेट, जुगसलाई के ठीक सामने पर हो रही दुर्घटनाओं को रोकने के लिये जुस्को के द्वारा स्पीड ब्रेकरों का निर्माण किया गया है लेकिन इसकी बनावट ऐसी है कि यह राहगीरों के लिये खतरनाक साबित हो रहे हैं। क्योंकि इससे वाहन चालकों को काफी झटके लग रहे हैं और इन झटको की वह से किसी भी वक्त किसी वाहन चालक की रीढ़ की हड्डी टूटने का अंदेशा है विशेषकर बुजुर्गों को ज्यादा परेशानी हो रही है। इस रास्ते से रोज के दिनों में आवाजाही करने वाले वाहन चालकों को रोज इस तरह के खतरनाक झटके झेलने होंगे तो उनकी रीढ़ की हड्डी में असर पड़ना निश्चित है। इसलिये इन्हें बदलकर कम झटके देने वाले सामान्य स्पीड ब्रेकर उक्त स्थान पर लगाये जाने चाहिए। अध्यक्ष ने बताया कि इस स्थान पर हो रही दुर्घटनाओं को देखते हुये सिंहभूम चैम्बर ने यहां पर फुटओवर ब्रिज निर्माण हेतु जुस्को से आग्रह से किया था लेकिन इसके स्थान पर जुस्को द्वारा यहां पर स्पीड ब्रेकर का निर्माण किया गया है।

 

उपाध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल गोल्डी एवं सचिव सुरेश शर्मा लिपु ने कहा कि जुस्को के प्रबंध निदेशक से टाटा स्टील पावर हाउस नंबर-3 गेट, जुगसलाई के ठीक सामने इन स्पीड ब्रेकरों को हटाकर इसके स्थान पर यहां फुटओवर ब्रिज निर्माण के सिंहभूम चैम्बर के आग्रह पर पुर्नविचार करने की मांग भी की गई है जो यहां पर दुर्घटनाओं को रोकने में ज्यादा कारगर साबित होगा।

 

चैम्बर के अन्य पदाधिकारियों उपाध्यक्ष अनिल मोदी, अधिवक्ता राजीव अग्रवाल, पुनीत कांवटिया, सचिव भरत मकानी, बिनोद शर्मा, सुरेश शर्मा लिपु, कोषाध्यक्ष सीए अनिल रिंगसिया भी जुस्को के प्रबंध निदेशक से चैम्बर के आग्रह पर ध्यान देते हुये इस इन खतरनाक स्पीड ब्रेकरों को हटाकर सामान्य स्पीड ब्रेकर लगाने या फुटओवर ब्रिज निर्माण हेतु मार्ग प्रशस्त करने की मांग की है।

Related Post