Tue. Jul 23rd, 2024

बारियातु में हाथियों के झुंड ने एक व्यक्ति को कुचलकर मार डाला

बारियातु में हाथियों के झुंड ने एक व्यक्ति को कुचलकर मार डाला

बालूमाथ कौशर अली की रिपोर्ट

बालूमाथ : लूटीओपी अंतर्गत साये पंचायत के गाठ छोड़ा में दादा पंचायत अंतर्गत पुकचु ग्राम के करमाही टोला निवासी सतिश उरांव उम्र 35 वर्ष की मंगलवार अहले सुबह हाथियों के झुंड ने कुबल कर मार डाला। अचानक हुई घटना से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। क्षेत्र में भय का माहौल बना है। घटना के संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि मंगलवार को अहले सुबह मुक्तक शौच के लिए गोड़ा गया था इसी दौरान हाथियों के झुंड ने हमला किया।

जिससे सतिश ने बचाव-बचाव की आवाज लगाया आवाज सुनकर हमलोग दोड़ा की तरफ तो देखा कि 12-15 कि. संख्या वाली हाथी का झुंड सतिश को कुचल रहा है। लगे तब तक हाथियों ने सतिश को पूरी तरह कुचल कर पानी के किनारे फेंक दिया। हाथियों के वहा से कुछ दूर जाने के बाद देखा तो सतिश मृत पड़ा है। जिसकी सूचना परिजन, टीओपी प्रभारी कुंदन कुमार, डाड़ा पंचायत के मुखिया सुरेश पूर्वी संतोष भगत, साल्वे मुखिया राजिव भगत, प्रमुख उर्मिला देवी, बारिया मुखिया सरिता देवी, बीस सूत्री ग्रामीणों कि मांग पर प्रभारी फोरेस्टर शंकर ने कहा कि के प्रयास करने के बावजूद जिप सदस्य रमेश राम, भाजपा चालित हजार का नगद सहयोग मंडल मंत्री निरंजन राम, जिला अध्यक्ष राजेन्द्र गंझू, कांग्रम के घर पहुंच कर वन विभाग के तेतरी देवी, पुत्र सम्मिल उरांव 16 हाथियों के झुंड का निकालने के प्रखंड अध्यक्ष सह राज्यसभा कमियों ने मृतक की पत्नी तेतरी वर्ष पुत्री गोल कुमारी 14 वर्ष लिए पलामू कि टीम को बुलावा सांसद प्रतिनिधि रिगन कुमार, देवी को हुए को छोड़ गए। मौके पर भाजपा गया था पर दो दिन तक लगातार मंडल अध्यक्ष लव कुमार सिंह किया। उन्होंने कहा कि ऐसी परिषद प्रत्याशी चिनोद राम, पूर्व असफल रहा। तत्काल बंगाल की टीम को बुलाया गया है, जो बीते सोमवार की रात्रि डाड़ा पंचायत के बचरा जंगल से हाथीयों को पुरष की दिशा में निकाला जा रहा है। साथ ही घटना में सरकार द्वारा चार लाख रुपये देने का प्रावधान है, जो तीन किस्तों में दिया जाएगा। काल 40 हजार रुपए इसके पचात 60 हजार रुपए व अंतिम किस्त पोस्टमार्टम रिपोर्ट के प्रक्रिया के पश्चात मुलक के थे। मृतक की पत्नी तेतरी देवी ने बताई कि मेरे पति बालूमाथ में मंगलवार को लगने वाली साराहिक बाजार में खासी बेचने के लिए जाना था। इसके लिए पास के बाँगाठ बोझ से फलहरी किया है। लाने गए थे कि हाथियों ने मार ढाला मुतक अपने पीछे पनी मुखिया प्रमोद उराव, समाज सेवी अनिल यादव, मंगर गंझू, लाल आशिस नाथ शाहदेव, नंदु उरांव, दिगम्बर टाना भगत, सोभा साव राकेश प्रसाद सहित दो सौ से अधिक महिला और पुरुष मौजूद विभाग के कर्मियों से तत्काल क्षेत्र से हाथियों के झुंड को भगाने के साथ साथ अब तक हुई क्षति का का मुआवजा द में जल्द भुगतान कराने की माग को दिया गया। सूचना पाकर सभी घटना स्थल पहुंचे। इसके पश्चात जन प्रतिनिधियों ने वन विभाग को हुई घटना कि सुचना दिया। इस बिच पुनः हाथियोंकि आहट सुनकर आधा घंटा के लिए अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। घटना कि सूचना या परिजन के खाते में दिया जाएगा। उपस्थित ग्रामीणों ने वन कर प्रभारी फोरेस्टर विजय शकर शर्मा बनली लव कुमार, शिव कुमार, कैलाश साहू व दवा में बंगला चौकिदार बिरेन्द्र कुमार पहुंच कर टीओपी प्रभारी कुंदन कुमार से वार्ता कर शव को कबजे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए लातेहार भेज दिया। मृतक कहा कि प्रभावित क्षेत्र के सभी टोला मुहल्ला में सुरक्षा को लेकर विभाग द्वारा टार्च दिया जाएगा। ज्ञात हो कि बिते एक सप्ताह से हाथियों का झुंड ने टोटी,साल्वे, बारिया व डाड़ा पंचायत में उत्पात मचा कर एक दर्जन से अधिक कच्चे घरो को ध्वस्त कर घर में रखे अनाज को घट कर चुका है। वहीं बारिया के नुकसान हो चुका है।
पुर्व मुखिया प्रमोद उराव के आम बागीचा को भी पूरी तरह तहस नहस कर दिया है जिससे लगभग पन्द्रलरुपए का

Related Post