Sun. Jul 21st, 2024

 

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर किया गया पौधारोपण

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर महुआडांड एसडीएम नीत निखिल सुरीन, महुआडांड बीडीओ अमरेन डांग एवं कार्यपालक दण्डाधिकारी जितेन्द्र कुमार गुप्ता के नेतृत्व में महुआडांड अनुमंडल व प्रखंड परिसर में पौधारोपण किया गया।अनुमंडल पदाधिकारी ने कहा कि शुद्ध वायु और शुद्ध जल आने वाली पीढि़यों का मौलिक अधिकार है। ये तभी संभव है, जब हम पर्यावरण को संरक्षण करेंगे और अधिक से अधिक पौधारोपण करेंगे। साथ ही पर्यावरण के संरक्षण के लिए पौधारोपण करना तथा पेड़ पौधों की देखभाल बहुत जरूरी है। प्रकृति के प्रति सजग रहने तथा संवेदनशील बनकर ही इस पृथ्वी पर जीवन को सुरक्षित किया जा सकता है।’बिगड़ते पर्यावरण से धरती का तापमान लगातार बढ़ रहा है जिससे मानव जीवन, जीव-जंतु व पेड़ पौधों पर बुरा असर पड़ रहा है। प्रदूषण, ग्लोबल वार्मिंग, वातावरण का बदलना जैसी गंभीर समस्याओं से पौधारोपण द्वारा ही पर्यावरण को संतुलित रखा जा सकता है।

वहीं इस अवसर पर नेतरहाट आवासीय विद्यालय के प्राचार्य विंध्याचल पाण्डेय ने नेतरहाट पठार क्षेत्र के सड़क किनारे वृक्षारोपण किया. इनके साथ कई शिक्षक, प्रशिक्षक एवं छात्रों ने भी वृक्षारोपण किया. वही प्राचार्य श्री पाण्डेय ने बताया पर्यावरण दिवस के अवसर पर गुलमोहर का पेड़ लगाया गया है, मौके पर डॉ. प्रसाद पासवान, शिक्षक, प्रशिक्षक एवं छात्र मौजूद थे।

वहीं पर्यटन स्थल लोध फोल में रेंजर वृंदा पांडे के नेतृत्व में पेड़ में रक्षा सूत्र बांधकर उसे बचाने का शपथ लिया गया। उन्होंने कहा कि बिगड़ते वातावरण के लिए वृक्ष लगाना अति आवश्यक है ग्रुप से हमें कई तरह के फल फूल मिलते हैं जिससे आजीविका चलती है। वही दूसरी ओर पेड़ पौधों से में ऑक्सीजन की प्राप्ति होती है जो जीवन के लिए अति आवश्यक है। हम सभी को अधिक से अधिक पेड़ लगाकर पर्यावरण को सुरक्षित रखना होगा ताकि हमें जीवन के लिए शुद्ध हवा की प्राप्ति हो सके। और हानिकारक गैसों से मुक्ति मिल सके। सभी से निवेदन है की जंगल को बचाएं पेड़ पौधे लगाए। मौके पर वनपाल अजय टोप्पो, इको विकास समिति के सदस्य, समेत अन्य लोग मौजूद थे।

Related Post