Sat. Jul 13th, 2024

सिंहभूम चैम्बर नें राज्यपाल से मिलकर मंडी टैक्स हटाने की मांग की।

जमशेदपुर-आज सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के एक प्रतिनिधिमंडल नें अध्यक्ष विजय आनंद मुनका के नेतृत्व में झारखंड के महामहिम राज्यपाल श्री रमेश बैस से मुलाक़ात की ओर झारखंड सरकार द्वारा कृषि उत्पादन बाजार समिति पर लगाये गए मंडी टैक्स को निरस्त करने की मांग की।राज्यपाल को दिए गए ज्ञापन के माध्यम से चैम्बर प्रतिनिधियों ने कहा कि मंडी टैक्स पूरे देश में अप्रासंगिक हो रहा है। एक एक कर के राज्य सरकारें अपनें राज्यों से इस टैक्स को समाप्त कर रही है।हाल में ही छत्तीसगढ़ नें भी इस टैक्स को समाप्त कर दिया है। झारखंड में भी इस टैक्स को पूरी तरह समाप्त कर दिया गया था,जिससे व्यापरियों नें राहत की सांस ली थी।परंतु उसी टैक्स को फिर से लगाना औचित्य से परे है।उन्होंने कहा कि खाद्यान्न व्यापारी पहले ही ऑनलाइन व्यापार के कारण मंदी की मार झेल रहे हैं।ऐसे में मंडी टैक्स लगने से उनके अस्तित्व पर संकट खड़ा हो जाएगा।उन्होंने महामहिम से इस संजीदा विषय पर संज्ञान लेकर इसे समाप्त करने की मांग की। उन्होंने राज्यपाल के समक्ष जमशेदपुर के औद्योगिक महत्व को रेखांकित करते हुए जमशेदपुर से हवाई सेवा शुरू करने की मांग की ।उन्होंने कहा कि जमशेद्पुर में हवाई अड्डा नहीं होनें से शहर का विकास अवरुद्ध हो रहा है। महामहिम राज्यपाल नें प्रतिनिधि मंडल की बातों को विस्तार से सुना और सकारात्मक सहयोग का आश्वासन दिया।

प्रतिनिधिमंडल नें सूबे के स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता से भी मुलाकात की ओर मंडी टैक्स को हटाने की मांग की।माननीय मंत्री जी ने भी चैम्बर व्यापरियों के तर्कों से सहमति जताते हुए सकारात्मक कदम उठाने का आश्वासन दिया।

प्रतिनिधिमंडल में चैंबर अध्यक्ष विजय आनंद मुनका, महासचिव मानव केडिया, उपाध्यक्ष मुकेश मित्तल, सचिव अनिल मोदी, व्यापार मंडल के अध्यक्ष दीपक भालोटिया,पवन नरेडी, करण ओझा शामिल थे।

Related Post