Sun. Jul 21st, 2024

जमशेदपुर होली का त्यौहार 2 दिनों के असमंजस में फंसा हुआ है

जमशेदपुर होली का त्यौहार 2 दिनों के असमंजस में फंसा हुआ है वही झारखंड के जमशेदपुर के राजेश भारती का नाम सुप्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य राजेश भारती वास्तु विशेषज्ञ का मानना है कि इस होलिका दहन को लेकर और होली का त्यौहार को लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। लेकिन शास्त्र कहता है कि होली का दहन जलने के 12 घंटे के बाद होली खेलना शुरू कर देना चाहिए। वही इनका मानना है कि यह कोई पर्व नहीं होली एक त्यौहार है और हिंदुओं के लिए नया साल है। होली जो है प्रति पर्दा कृष्ण पक्ष में होली खेला जाता है और 12:00 बज कर 35 मिनट में दोपहर का प्रतिपदा कृष्ण पक्ष में लग जा रहा है। ऐसे में मानता है कि अबीर गुलाल का जो होली होती है वह 12:00 बजे के बाद खेली जाती है और सुबह में जो होता है उसे हुड़दंग होली कहते हैं ऐसे में यह स्पष्ट होता है कि होली का यह पर्व 18 मार्च को ही मनाया जाएगा और 19 मार्च को 12:00 बजे के बाद प्रदीप पर्दा कृष्ण पक्ष समाप्त हो जाता है। और होली के त्यौहार में उदया तिथि नहीं लिया जाता है। सिर्फ होलिका दहन जो होता है उसी का शुभ मुहूर्त देखा जाता है। वही आपको बता दें कि होलिका दहन का शुभ मुहूर्त रात 9:15 से 10:40 तक पहला मुहूर्त है वहीं दूसरा मुहूर्त 1:15 से लेकर 3:00 बजे तक है ऐसे में ब्रह्म 10:00 से पहले होलिका दहन जल जाना चाहिए । ऐसे तो होली का त्यौहार फागुन का डाउनलोड लक्ष्य शुरू हो जाता है वही वृंदावन की होली लगातार 15 दिनों तक उत्सव के रूप में मनाया जाता है।

Related Post