Mon. Jul 22nd, 2024

फादर से मारपीट को लेकर पकरी पाठ अलर्ट सेन्टर पहुंचे डीएसपी व नेतरहाट थाना प्रभारी, किया पुछताछ।

नेतरहाट थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पकरीपाठ में सोमवार की रात को 6-7 अज्ञात हथियारबंद अपराधियों के द्वारा अलर्ट सेंटर पहुँचकर फादर सुनील बाड़ा के साथ मारपीट एवं लूट की घटना की गई थी।जिसे लेकर छानबीन के लिए बुधवार को डीएसपी राजेश कुजूर एवं नेतरहाट थाना प्रभारी दिवाकर दुबे पकरीपाठ गांव पहुचे एवं पकरी पाठ के अन्य फादर एवं सिस्टर से पूछताछ की।पूछताछ के क्रम में पकरीपाठ पारिस के फादर एवं कान्वेंट की सिस्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि मारपीट के दूसरी रात मंगलवार को पुनः तीन अज्ञात व्यक्ति फादर अमित कुजूर की खोज बीन करते हुए पकरीपाठ पारिस पहुँचे और पारिस का दरवाजा पीटकर दरवाजा खोलने की बात कर रहे थे,जब लोगो ने दरवाजा नहीं खोला तो पुनः यह सभी लोग अलर्ट सेंटर पहुँच बच्चो से फादर अमित कुजूर की बारे में पूछताछ करके चले गए।पति दें कि पकरीपाठ पारिस अंतर्गत लगभग 15 गांव आते है,सोमवार की रात हुई घटना की जानकारी होते ही पारिस अंतर्गत नजदीक के 10 गांव के युवक पारिस पहुँच पारिस की सुरक्षा में लगे गए हैं।साथ ही टोलियां बनाकर रात को पारिस एवं कान्वेंट में फादर सिस्टर की सुरक्षा देने की बात भी कह रहे हैं। साथ ही अपने स्तर से अपराधियो की खोज बीन कर रहे है।

 

क्या था मामला।

नेतरहाट थाना क्षेत्र अंतर्गत पकरी पाठ ग्राम स्थित अलर्ट सेंटर में सोमवार रात लगभग 8 बजे 6-7 हथियारबंद अपराधियो ने जमकर उत्पात मचाया।इस दौरान उन्होंने अलर्ट सेंटर के निदेशक फादर सुनील बाड़ा(45) के साथ मारपीट भी की,नगदी एवं मोबाइल भी लूट ले गए।घटना उपरांत स्थानीय लोगो की मदद से फादर सुनील बाड़ा को महुआडांड़ स्थित कार्मेल हॉस्पिटल लाया गया जहाँ उनका इलाज चल रहा है।वही घटना को लेकर ईसाई समुदाय में काफी रोष देखा जा रहा है।लोगों ने जल्द से जल्द अपराधियो की गिरफ्तारी की मांग की है।

घटना के संबंध में फादर सुनील बाड़ा ने बताया कि वह अलर्ट सेंटर में पकरीपाठ पारिस के मुख्य फादर अमित कुजूर,ब्रदर डेविड खलखो,विंसेंट एक्का एवं एमिल एक्का के साथ मीटिंग कर रहे थे इसी दौरान पकरीपाठ पारिस के रसोइया विजय मुंडा एवं अज्ञात छः सात लोगो ने दरवाजा खुलवाया।दरवाजा खुलने पर दो लोग जबर्दस्ती रूम में घुस आए और अपना हथियार निकाल फादर अमित कुजूर के बारे में पूछताछ करने लगे साथ ही पूरे कमरे की छानबीन करने लगे और कमरे में मौजूद सभी लोगो का मोबाइल ले लिया साथ ही मेरे पर्स में रखे दस हजार रूपये भी छीन लिए,और मुझे पाइप से मारते हुए बाहर रोड में ले गए मारने के दौरान उन्होंने मेरे सर पर भी दो तीन बार मारा जिससे मैं घायल हो रोड पर गिर गया।जिसके बाद मेरा बहता खून देख सभी अपराधी हुरमुंडाटोली की तरफ भाग निकले।घटना की सूचना मिलते ही मंगलवार सुबह एसडीपीओ राजेश कुजूर,नेतरहाट थाना प्रभारी दिवाकर दुबे ने घटनास्थल का जायजा लिया साथ ही कार्मेल हॉस्पिटल पहुँच घायल फादर सुनील बाड़ा से मिलकर हालचाल पूछा एवं घटना की जानकारी ली, वही पुलिस अपराधियो के धर पकड़ के लिए छापामारी अभियान चला रही है।

 

इस तरह वारदात को दिया गया था अंजाम

 

इस संबंध में नेतरहाट थाना प्रभारी दिवाकर दुबे ने बताया कि अलर्ट सेंटर में घटना को अंजाम देने से पूर्व सभी अपराधी पकरीपाठ पारिस में दरवाजा खुलवाया एवं पारिस के बड़े फादर अमित कुजूर के बारे में पूछा,रसोइया विजय मुंडा ने जब बताया कि वह अलर्ट सेंटर मीटिंग में है तो उसे हथियार के बल पर साथ में अलर्ट सेंटर चलने को कहा एवं अलर्ट सेंटर पहुँचने के बाद अपराधियों ने फादर सुरेश बाड़ा को पारिस का बड़ा फादर अमित कुजूर समझ मारपीट की एवं घटना को अंजाम दिया,इस घटना से ऐसा लगता है कि बदले की भावना से घटना को अंजाम दिया गया है,वैसे पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है,जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा।

Related Post