Wed. Jul 24th, 2024

संथाल परगना में वर्ष 2023-24 में पथ निर्माण का कार्य तेजी से बढ़ा है, हमें इससे अधिक गति से कार्य करने की आवश्यकता – बसंत सोरेन

सूबे के पथ निर्माण,भवन निर्माण एवं जल संसाधन विभाग के मंत्री बसंत सोरेन की अध्यक्षता में सोमवार को समाहरणालय सभागार में प्रमंडल स्तरीय समीक्षा बैठक आयोजित हुई| बैठक में पथ निर्माण विभाग की समीक्षा करते हुए मंत्री बसंत सोरेन ने संताल परगना के सभी जिलों के कार्यपालक अभियंता से जिलावार क्रियान्वित योजनाओं की जानकारी ली। बैठक में बताया गया कि पथ प्रमंडल अंतर्गत पिछले 4 वित्तीय वर्ष में संताल परगना प्रमंडल में कुल 123 योजनाएं पूर्ण हो चुकी है। जिसमे दुमका में 39, साहिबगंज में 15, देवघर में 34, गोड्डा में 14, जामताड़ा में 09, पाकुड़ में 12 योजनाएं है। इस दौरान कुल मिलाकर 1897.71 किलोमीटर पथ का निर्माण संताल परगना में हो चुका है। वर्तमान में दुमका जिले में 26, देवघर में 27, गोड्डा में 19,जामताड़ा में 08, पाकुड़ में 14, साहिबगंज में 11 योजनाएं संचालित है, जिसके तहत 1474.24 किलोमीटर सड़क का निर्माण होना है। यह कार्य औसत के रूप में 62.01% हो चुका है। मंत्री बसंत सोरेन ने कहा कि पिछले वित्तीय वर्ष 2023-24 में पथ के निर्माण का कार्य तेजी से बढ़ा है। इससे अधिक गति से भी हमे कार्य करने की आवश्यकता है। लोगों को आवागमन सुविधा उपलब्ध कराने से उनके विकास को गति मिलती है। हमारा लक्ष्य है गांव से शहर तक अच्छी सड़क बनाना। अगर इसके बीच कोई बाधा उत्पन्न होती है, किसी भी संवेदक द्वारा समय पर कार्य पूरा नहीं किया जा रहा तो उन पर विधिसम्मत कार्यवाई होगी। उन्होंने विभिन्न सड़क परियोजनाओं की प्रगति, नई सड़क निर्माण से संबंधित कार्य योजनाओं और राजस्व संग्रह की समीक्षा की। कहा कि सड़क परियोजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण से जुड़ी समस्याओं का यथाशीघ्र निराकरण हो।

बैठक में पथ निर्माण विभाग के सचिव सुनील कुमार, माननीय मंत्री के आप्त सचिव रवि शंकर विद्यार्थी, संथाल परगना प्रमंडल के आयुक्त, प्रमंडल अंतर्गत सभी जिले के उपायुक्त, डीएलएओ, कार्यपालक अभियंता सहित अन्य उपस्थित थे।

 

संवाददाता मौसम गुप्ता कि रिपोर्ट।

राजधानी न्यूज़ जमशेदपुर इस खबर की पुष्टि नहीं करता है,

खबर की जवाबदेही पूरी तरह से संवाददाता की हैं।

Related Post