Thu. Jul 18th, 2024

हरिणा मेला में युवा का जेंडर जागरूकता शिविर

जमशेदपुर

सामाजिक संस्था यूथ यूनिटी फॉर वोलंटरी एक्शन ( युवा ) एवं कॉमिक रिलीफ क्रिया के संयुक्त तत्वावधान में पोटका प्रखंड के हरिणा में जेंडर आधारित हिंसा के खिलाफ तीन दिवसीय जागरूकता शिविर आज से शुरू हुआ और यह जागरूकता शिविर 18 जून तक चलाया जाएगा | इस शिविर का नेतृत्व पोटका प्रखंड की 15 पंचायत की लड़कियों एवं महिलाओं द्वारा किया जा रहा है | इस साल युवा संस्था द्वारा हरिणा मेला के दौरान जेंडर आधारित हिंसा के खिलाफ जागरूकता शिविर करने का विशेष उदेश्य यह है कि हजारों की संख्या में यहाँ आने वाले लोग में जागरूकता बढ़े कि किस तरह से महिलाओं के साथ भेदभाव, गैरबराबरी , हिंसा व यौनिक शोषण बढ़ रही है और आज भी कही ना कही महिलाएं सुरक्षित नहीं है |

इस जागरूकता शिविर में तरह तरह के खेल, क्विज एवं पोस्टर को दिखाते हुए जिसमें लडकियों – महिलाओं ने पूरा सहयोग किया प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर अंजना देवगम ने जानकारी दी कि लड़कियों के लिए माहवारी प्राकृतिक प्रक्रिया है इससे जुड़ी कलंक , छुआछूत को हमें दूर करना है और लड़कियों, महिलाओं को आगे बढ़ने में सहयोग करना है क्योंकि अभी भी लड़कियां माहवारी से जुड़े कलंक , छुआछूत से प्रभावित है और अपने अवसरों एवं अधिकारों से वंचित है। सार्वजनिक स्थानों में नहीं जा पा रही है | विकलांग लड़कियों के साथ माहवारी के दौरान हिंसा की घटना और अधिक बढ़ जाती है ।कई लड़कियों का गर्भाशय निकाल दिया जाता है । कमरे में बंद करके रखा जाता है , खाना पीना नहीं दिया जाता है इस तरह से वे घरों में भी हिंसा का शिकार हो रही है | किशोरी लीडर गुडिया नायक ने कहा कि माहवारी गंदा व छूत का विषय नहीं है और ना ही तब लड़कियां अपवित्र होती है इस सोच को बदले और रुढ़िवादी धारणा को तोड़े | युवा संस्था की तरफ से निःशुल्क पीने के पानी का व्यवस्था की गयी और सब को जेंडर आधारित हिंसा को रोकने के खिलाफ जानकारी से संबंधित लीफलेट बांटे गए | शिविर में आ रहे लोगों ने इस तरह की जागरुकता कार्यक्रम की काफी प्रशंसा की और कहा कि इस मेले में हर साल आते है लेकिन इस बार इस तरह की पहल करते हुए पहली बार देख रहे है। इस शिविर को सफल बनाने में युवा के सभी सदस्यों एवं लीडर लडकियों व महिलाओं ने सहयोग किया |

Related Post