Wed. Jul 24th, 2024

महुआडांड़ में मोहर्रम का जुलूस शान के साथ निकला आज भी इमाम हुसैन प्रेरणा के श्रोत है: विधायक रामचंद्र सिंह

महुआडांड़ में मोहर्रम का जुलूस शान के साथ निकला

आज भी इमाम हुसैन प्रेरणा के श्रोत है: विधायक रामचंद्र सिंह

महुआडांड़ संवाददाता शहजाद आलम की रिपोर्ट

मोहर्रम इंत्तजामिया कमिटी के जनरल खलीफा बसारत अली और नायब खलीफा रानू खान संरक्षक शहजाद आलम नुरूल अंसारी के नेतृत्व मे बुधवार को महुआडांड में मोहर्रम का जुलूस पूरे शान के साथ निकाली गई।ये जुलूस जरहाटोली गुरगुरटोली से शुरू होकर अम्बोवाटोली, डीपाटोली,होते हुए गांधी चौक पहुंची जहां पर सभी मस्जिद के सदर व मुहर्रम के लाइसेंस धारी अन्य बुद्धिजीवी लोगों की पगड़ी बोसी की गई

जिसके बाद जुलूस शास्त्री चौक होते हुए बस स्टैंड पर पहुचीं, जहां ये जुलूस खेल-कूद कार्यक्रम मे तब्दील हो गई।इस कार्यक्रम मे बतौर मुख्य अतिथि स्थानीय विधायक रामचंद्र सिंह,विशिष्ठ अतिथि के रूप में

एसडीपीओ राजेश कुजूर, बीडीओ अमरेन डांग, कार्यपालक दंडाधिकारी जितेंद्र कुमार, जिप सदस्य इस्तेला नगेसिया,प्रखंड प्रमुख कंचन कुजूर,सर्किल इंस्पेक्टर धर्मदेव पासवान,थाना प्रभारी आशुतोष यादव, उप प्रमुख अभय मिंज, हिंदू महासभा संरक्षक भुनेश्वर सिंह,इफ्तेखार अहमद एव पूर्व जिप सदस्य मनीना कुजूर मौजूद थे।इस दौरान सभी अतिथियों का स्वागत मोहर्रम इंत्तजामिया कमिटी की ओर से शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।इसके बाद विभिन्न मुहल्ले के खिलाड़ी तलवार, भाला, बाना,फरसा के अनोखे जोखिम भरे करतब दिखायें।जिन्हे मोहर्रम इंत्तजामिया कमिटी के द्वारा पुरुस्कृत किया गया।वहीं त्यौहार को लेकर ओरसा, कुसमी छत्तीसगढ़, पहाड़ कापू,लुरगुमी,शाहपुर,परहाटोली, मायापुर,जरहाटोली,परहाटोली,डिपाटोली, अम्वाटोली,फुलवार बगीचा, महुआडांड़, समेत अन्य गांव लोग जुलूस में शामिल थे। जुलूस में शामिल होने वालों के लिए जगह जगह पर लंगर का इंतजाम किया गया था

अपने संबोधन मुख्य अतिथि रामचंद्र सिंह ने कहा कि इमाम हुसैन और उनके 72 साथियों ने अन्याय के खिलाफ न्याय के लिए अपनी शहादत दी थी, मोहर्रम का त्योहार त्याग का त्योहार है,सभी लोग अपने जीवन में लागू करने की कोशिश करे क्योंकि आज भी इमाम हुसैन प्रेरणा के श्रोत है।मंच का संचालन संरक्षक सहजाद आलम के द्वारा किया गया।

वहीं समारोह का सफल आयोजन करने मे जामा मस्जिद के सदर फहीम खान,सिक्रेटी तनवीर अहमद, आजाद अहमद,शमशाद अहमद,सहजाद आलम,नुरुल अंसारी,शाहिद कमाल,रानू खान, नौशाद आलम आदि का योगदान सराहनीय रहा।

Related Post