Tue. Jul 23rd, 2024

टाड़ में हल चला रहे रिंकू नगेसिया के पास आकर बेहोश हो गया, फिर उसे स्थानिय ग्रामीणों की मदद से स्वास्थ्य केंद्र महुआडांड़ लाया गया।

ओरसा पंचायत ग्राम बरपाठ निवासी ने किया आत्महत्या 2 दिनों के मशक्कत के बाद शव को निकाल कर, पोस्टमार्टम हेतु भेजा गया लातेहार।

 

दूसरे दिन की कोशिश के बाद पुलिस के द्वारा सुरकई फाॅल से एक लाश निकाला गया. पांच दिनों से पानी में रहने के कारण दुर्गन्ध दे रहा था,शव की शिनाख्त ओरसा पंचायत अंतर्गत ग्राम बरपाठ निवासी 35 वर्षीय दिनेश नगेसिया के रूप में कि गई. शव को कब्जे में लेकर थाना प्रभारी आशुतोष यादव ने पोस्टमार्टम के लिए लातेहार भेजा।

 

इस संबंध में थाना प्रभारी आशुतोष यादव ने बताया कि देखने से तो यह आत्महत्या लगता है, दिनेश नगेसिया को उसके घर के परिवार समेत पुलिस भी तलाश थी. रविवार को कुछ ग्रामीणो के द्वारा वन प्रक्षेत्र के जंगल क्षेत्र स्थित सुरकई फाॅल में पानी में लाश देखा गया. इसकी सुचना थाना को मिलते ही हमलोग घटनास्थल पर पहुंचे, जहां पहले दिन शव नही निकल पाया दूसरे दिन शव को निकाला गया. और पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया, दिनेश नगेसिया अपने सात वर्षीय पुत्र की हत्या की नकाम कोशिश के बाद से फरार था. परिवार के लोग भी इसकी तलाश कर रहे थे।

 

*दिनेश की क्यो थी,तलाश*

 

ज्ञात हो पिछले 5 जुलाई को ओरसा पंचायत के बरपाठ में दिनेश नगेसिया अपने सगे एक सात वर्षीय पुत्र अनीश नगेसिया को बहला फुसला कर जंगल की ओर ले जाकर

बच्चे की सर में पत्थर मारकर हत्या की कोशिश किया. और उसे मरा समझकर झाड़ में छोड़कर भाग गया था. बच्चा को जब होश आया तो वहा से निकलकर कुछ दूर टाड़ में हल चला रहे रिंकू नगेसिया के पास आकर बेहोश हो गया, फिर उसे स्थानिय ग्रामीणों की मदद से स्वास्थ्य केंद्र महुआडांड़ लाया गया।

महुआडांड़ संवाददाता शहजाद आलम की रिपोर्ट

इस संबंध में पत्नी सरिता देवी ने बताया उसके पति के द्वारा पुत्र अनीश नगेसिया को मंगलवार की सुबह जंगल के तरफ ले जाकर सर में पत्थर से चोट कर घायल कर छोड़ के भाग गया, हमलोग उसकी बहुत तलाश किये पर नही मिला, गांव के कुछ लोग जंगल गये तो लाश देखा गया. कुछ दिनो से उसकी मानसिक स्तिथि सही नही थी. बेटा का इलाज रिम्स रांची में चल रहा है।

Related Post