Fri. Jul 19th, 2024

सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की बैठक में दुकानों के किराये में सैकड़ों गुना वृद्धि पर व्यापारियों ने इसे सरकार और जेएनएसी द्वारा आतंकित करने वाला किराया बताया

सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष विजय आनंद मूनका के नेतृत्व में आज चैम्बर भवन में विभिन्न बाजारों के व्यापारियों की एक बैठक आयोजित हुई जिसमें जेएनएसी द्वारा दुकानों केे किराये में सैकड़ों गुना वृद्धि किये जाने के विरोध किया गया। इस बैठक में सैकड़ों की संख्या में दुकानदार उपस्थित होकर चैम्बर को दुकानदार व्यापारियों की ओर से इसके विरोध में नेतृत्व करने की मांग की गई और सरकार को सख्त संदेश देने की अपील की गई। बैठक में चैम्बर सभागार पूरी तरह खचाखच भरा था और पांव रखने की जगह नहीं थी। व्यापारियों ने कहा यह बिल्कुल भी न्यायसंगत और तर्कसंगत नहीं है कि जिन दुकानों का किराया टाटा स्टील के द्वारा 24-25 रूपये लिया जाता था उस दुकान का किराया 15-16 हजार रूपये वसूल करने का बिल जेएनएसी के द्वारा दुकानदारों को भेजा जा रहा है। यह कृत्य अव्यवहारिक और आतंकित करने वाला है। दुकानदारों ने कहा कोई भी व्यापारी जेएनएसी के द्वारा भेजे गये इन बिलों का भुगतान नहीं करेगा और इसके खिलाफ जोरदार आंदोलन किया जायेगा। कुछ व्यापारियों ने कहा कि सरकार को हमें अपने व्यापारी एकता दिखाते हुये इसके विरोध में पूरी तरह एक दिन के लिये जमशेदपुर बंद कर उपायुक्त कार्यालय के समक्ष धरना देना चाहिए। और जबतक इस आतंकित करने वाले वृद्धि को वापस नहीं लिया जाता तबतक काला बिल्ला लगाकर दुकानदारी करें।

कुछ व्यापारियों ने कहा कि जेएनएसी को बाजार के दुकानों का किराया लेने का कोई हक नहीं है क्योंकि इनका गठन ही असंवैधानिक है। व्यापारियों ने कहा कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि सरकार लगातार व्यापारियों के विरूद्ध कार्य कर रही हैं, कभी मंडी टैक्स, होल्डिंग टैक्स लगाकर तो कभी दुकानों का किराया बढ़ाकर। व्यापारी अभी कोरोना काल की आपात स्थिति से बाहर नहीं निकल पाये हैं, उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार नहीं हो सका है और सरकार की गलत नीतियों से और भी परेशान हो रहे हैं।

व्यापारियों ने सदैव राज्य और राष्ट्र के सर्वांगीण विकास में अपना बहुमूल्य योगदान दिया है। इस तरह के एकतरफा कार्रवाई से व्यापारी स्तब्ध और हतप्रभ हैं।

दुकानदारों ने जिला प्रशासन से मांग की कि दुकानों का मालिकाना हक उनके वर्तमान मालिकों को दे दिया जाय जो कि वर्षों से अपने खर्चे और मेंटेनेंस पर दुकानों का संचालन कर रहे हैं।

अध्यक्ष विजय आनंद मूनका ने व्यापारियों से कहा कि चैम्बर हमेशा हरेक व्यापारियों के साथ सरकार की गलत नीतियों के विरोध में खड़ा है चाहे वह चैम्बर का सदस्य हो या न हो, हमारा ध्येय सिर्फ व्यापारी हित है। चैम्बर जल्द ही इस अव्यहारिक बढ़ोतरी के खिलाफ रणनीति बनाकर, इसके हरेक पहलू पर विचार कर इस आंदोलन का नेतृत्व करने के लिये तैयार है।

बैठक के अंत में निर्णय हुआ कि
ऽ कल से सभी व्यापारी काला बिल्ला लगाकर व्यापार करेंगे
ऽ उपायुक्त से मिलेगा चैम्बर का प्रतिनिधिमंडल
ऽ नहीं बात बनी तो हो सकता है बाजार बंद,
ऽ होगा धरना-प्रदर्शन

आज की बैठक में अध्यक्ष विजय आनंद मूनका, पूर्व अध्यक्ष सुरेश सोंथालिया, मानद महासचिव मानव केडिया, उपाध्यक्ष नितेश धूत, महेश सोंथालिया, मुकेश मित्तल, सचिव, अनिल मोदी, पीयूष चौधरी, भरत मकानी, कोषाध्यक्ष किशोर गोलछा, सत्यनारायण अग्रवाल, श्रवण देबुका, मोहित मूनका, अनिल चौधरी, राहुल चौधरी, नवीन श्रीवास्तव, इन्द्रजीत बिन्द्रा, महावीर मोदी, निरंजन गौतम, सुशील सिंहानिया, नरेश कांवटिया, राजा सिंह, रामू देबुका, ओमप्रकाश मूनका, बंटी अग्रवाल, अमिश अग्रवाल, धर्मेश अडेसरा, नरेश देबुका, रूपेश रानपारा, सुरेश गुप्ता, रमेश शर्मा, किशोर वसानी, जावेद अहमद, उत्तम कु0 श्रीवास्तव के अलावा बिष्टुपुर, साकची, जुगसलाई, गोलमुरी, सोनारी, टेल्को से भी दुकानदार सैकड़ों की संख्या में उपस्थित थे।

Related Post