Sun. Jul 21st, 2024

महुआडांड़ प्रखण्ड सभागार में ग्राम प्रधानों की मासिक बैठक हुई संपन्न।

महुआडांड़ प्रखंड सभागार में प्रखंड विकास पदाधिकारी अमरेन डांग की उपस्थिति में ग्राम प्रधानों की मासिक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए अध्यक्ष कोर्नेलियुस मिंज ने सभी ग्राम प्रधानों का स्वागत किया।ग्राम प्रधानों ने प्र0 वि0 पदा0 के समक्ष ग्राम सभा से पारित जरुरतमंदों के नामों को मुखिया एवं बिचौलियों के माध्यम से छेड़छाड़ का मुद्दा उठाया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पंचायत सेवक द्वारा ग्राम सभा पंजी अपने पास हर बार रख लेने का आरोप लगाया। जिसपर पंचायत अधिकारियों और बिचौलियों द्वारा हमेशा गड़बड़ी की जाती है। उपस्थित ग्राम प्रधानों ने उपस्थित झारखण्ड नरेगा वाच के राज्य संयोजक जेम्स हेरेंज से मनरेगा योजना और सामाजिक अंकेक्षण में ग्राम सभा की शक्ति के बारे जानना चाहा।जिसपर उन्होंने पेसा के अंतर्गत, सर्वोच्च न्यायालय के आदेश, मनरेगा कानून में प्रावधान एवं खाद्य सुरक्षा योजना में सामाजिक अंकेक्षण के प्रावधानों को विस्तार से बताया। सामाजिक कार्यकर्त्ता सिसका सांगा ने पांचवीं अनुसूची क्षेत्र में ग्राम सभा की शक्तियों पर विस्तृत प्रकाश डाली।लातेहार जिला मुख्यालय से चाईल्ड लाईन 1098 सर्विस के जिला कोर्डिनेटर विल्सन तिग्गा ने बच्चों के अधिकारों, बाल तस्करी, बाल विवाह सरीखे मुद्दों पर ग्राम प्रधानों को निगरानी रखने की अपील करते हुए बच्चों के लिए चलाये जा रहे सरकारी योजनाओं की जानकारी दी।सभा के अंत में प्रखंड विकास पदाधिकारी ने विकास योजनाओं तथा ग्राम सभा से पारित योजनाओं में किसी भी तरह के शिकायत होने पर सीधे सूचित करने का सुझाव दिया।इसके लिए उन्होंने अपना मोबाईल एवं वाट्सएप्प नम्बर भी सार्वजानिक तौर पर साझा की है। उन्होंने आगामी 23 अक्तूबर तक सभी ग्राम प्रधानों को परिचय पत्र अपने कार्यालय से देने की बात कही। इस बैठक में ग्राम प्रधान फ्रांसिस तिर्की, नागेन्द्र नगेसिया, बिमला देवी, डेविड मिंज, मार्सल बेक, सतन नगेसिया, तेजपाल नगेसिया सहित कुल महुआडांड़ 65 गाँव के ग्राम प्रधान उपस्थित थे

Related Post