Sun. Jul 21st, 2024

बाल विवाह मुक्त एवं बाल हितैषी गांव बनाने का संकल्प

पोटका

सामाजिक संस्था यूथ यूनिटी फॉर वॉलंटरी एक्शन (युवा) के तत्वावधान में पोटका प्रखंड के तेंतला पंचायत के इंपीरियल रिसोर्ट में एक दिवसीय जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया ,जिसमें 11 प्रखंड के ग्राम प्रधानों ने भाग लिया। इसका संचालन गर्ल्स फर्स्ट फंड परियोजना की प्रोजेक्ट कॉ ऑर्डिनेटर ज्योति पिंगूवा ने किया, जिसमें ग्राम प्रधानों को बताया गया कि बाल विवाह क्या है, इसके क्या क्या दुष्परिणाम है। शिक्षा , स्वास्थ्य, हिंसा एवं सामाजिक स्तर पर और सरकारी एवं समुदाय के लोगों की क्या क्या जिम्मेदारी है । समुदाय में बाल विवाह को लेकर क्या क्या प्रथाएं है।बाल हितैषी गांव कैसे बनाएं ,इस पर चर्चा की गई । ग्राम प्रधानों को बाल विवाह क्या हैं, उसके क्या क्या दुष्परिणाम होने हैं और बाल अधिकार क्या हैं इसके बारे में बताया गया। युवा की सचिव वर्णाली चक्रवर्ती ने ग्राम प्रधान की भूमिका के बारे में चर्चा की। ग्राम सभा में बाल विवाह, जबरन विवाह एवं जल्द विवाह को लेकर जागरूक करना है। उन्होंने गांवों को बाल हितैषी गांव बनाने के लिए ग्राम प्रधानों को प्रेरित किया।

बैठक में उपस्थित सभी ग्राम प्रधानों ने गांवों को बाल हितैषी गांव बनाने का संकल्प लिया।

Related Post