कैट के राष्ट्रीय बैठक 8,9 और 10 फ़रवरी नागपुर में दिखेगा महिला उद्यमिता का परचम

0
344

जमशेदपुर

कैट के राष्ट्रीय सचिव श्री सुरेश सोन्थलिया ने बताया कोविड महामारी के कारण पूरे एक वर्ष के इंतेज़ार के बाद विभिन्न राज्यों के लगभग 150 से अधिक व्यापारी नेता जिनमें महिला उद्यमी भी शामिल हैं आगामी 8 फरवरी से 10 फरवरी तक नागपुर में एक तीन दिवसीय राष्ट्रीय बैठक का आयोजन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के बैनर तले हो रहा है जिसमें देश भर के व्यापारियों से सम्बंधित अनेक ज्वलंत विषयों पर चर्चा कर आगमी रणनीति तय की जायेगी वहीँ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के लोकल पर वोकल और आत्मनिर्भर भारत अभियान के साथ किस प्रकार से व्यापारियों, कारीगरों, हस्तशिल्पियों और महिला उद्यमियों को जोड़ा जाए इस पर भी विचार होकर भविष्य की रूप रेखा बनाई जायेगी !

कैट के राष्ट्रीय सचिव श्री सुरेश सोन्थलिया ने बताया कि देश के शीर्ष व्यापारियों की इस तीन दिवसीय बैठक में देश भर में महिलाओं को को किस प्रकार से उद्यमी बनाया जा सकता है , का मुद्दा केंद्र में होगा ! उन्होंने कहा की देश में प्रत्येक घर में महिलाओं के रूप में 50 प्रतिशत मानव संसाधन उपलब्ध हैं जिसका सदुपयोग व्यावसायिक अथवा प्रोफेशनल गतिविधियों के लिए बेहद छोटे स्तर पर हो रहा है ! देश के करोड़ों व्यापारियों के घर में कम से कम एक महिला को उद्यमी बनाया जाए, यह लक्ष्य कैट ने तय किया है और नागपुर मीटिंग में इस लक्ष्य को हासिल करने के ,लिए एक सोची समझी नीति बनाई जायेगी !

श्री सोन्थलिया ने कहा की महिला उद्यमियों को अर्थव्यवस्था की मुख्यधारा में लाने जैसे कई मुद्दों पर चर्चा होगी। महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में महिला उद्यमी द्वारा निर्मित उत्पादों की एक प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जाएगा। महिलाओं को व्यवसाय चलाने में आने वाली कठिनाइयों जैसे वित्त एवं तकनीक का न मिलना, अपर्याप्त ट्रेनिंग, महिला उद्यमियों के उत्पादों को सही बाज़ार का न मिलना जैसे विषयों पर देश भर की महिला उद्यमी एवं अन्य व्यापारी नेता गंभीर चर्चा करेंगे !

श्री सोन्थालिया ने बताया की कैट महिलाओं के लिए एक विशेष प्लेटफार्म का निर्माण करने जा रहा है जहाँ महिलाएं देश भर के व्यापारियों के साथ बातचीत कर सकेंगी और अपनी व्यावसायिक नेटवर्किंग का विस्तार भी कर सकेंगी। इस बैठक के अन्य महत्वपूर्ण एजेंडे में कैट इंडिया बिज़नेस नेटवर्किंग पर विचार विमर्श एवम उनको अंतिम रूप देना है । इस नेटवर्किंग के माध्यम से, युवाओं को एक मंच मिलेगा जिसके माध्यम से वे देश भर में और अंत में दुनिया भर में व्यापारिक लेनदेन कर सकते हैं।व्यापारियों को ई-प्लेटफॉर्म पर लाना और डिजिटल व्यवसाय को प्रोत्साहित करने के लिए, भारत इमार्केट पोर्टल लॉन्च किया जा रहा है। व्यापारियों को डिजिटल मोड में भुगतान स्वीकार करना होगा और इसी तरह उन्हें डिजिटल रूप से धन हस्तांतरण करना होगा। भविष्य में व्यापार करने के कौन से और तरीके हैं उस पर भी चर्चा होगी। झारखण्ड से भी काफ़ी व्यापारी बैठक में भाग लेंगे । राँची से अर्जुन जलान , धनबाद से रूपेश अग्रवाल देवघर से सीताराम केजरीवाल और जमशेदपुर से किशोर गोलछा भाग लेंगे।