Mon. Jun 17th, 2024

राज्य के प्रथम शौर्य चक्र विजेता को रास्ते के लिए प्रताड़ित कर रही कमेटी, डीजीपी कोल्हान डीआईजी ने लिया संज्ञान, डीसी के निर्देश पर एसडीएम और सीओ कर रहे मामले की जांच-video

By Rajdhani News Sep 5, 2020 #ghatshila

घाटशिला:-कमलेश सिंह

वीर और उनके अधिकारों की हिफाजत जरूरी, प्रताड़ित करने वालों पर वह करवाई- कुणाल सारंगी

घाटशिला:-झारखंड राज्य गठन के बाद वर्ष 2003 में अदम्य साहस और पराक्रम के लिए शौर्य चक्र का सम्मान पाने वाले घाटशिला निवासी मोहम्मद जावेद इन दिनों जमीन और रास्ते को लेकर अपने ही घरों के सामने व्यवधान से गिरे हुए हैं। मस्जिद के लिए मुख्य द्वार उनके घर के मुख्य द्वार के सामने खोल दिया गया है। जिससे उन्हें काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। कभी बॉर्डर पर दुश्मनों से लोहा लेने वाला अब अपनों के बीच स्थानीय समस्याओं से जूझ रहा है। [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=9xlJkTCG5g8[/embedyt]

पिछले 4 वर्षों से जमीन और रास्ते के विवाद के समाधान को लेकर शौर्य चक्र विजेता मोहम्मद जावेद ने कई बार जिला प्रशासन से गुहार लगाई। इसके बावजूद उन्हें न्याय से वंचित रखा गया। दूसरी और मस्जिद कमेटी के सदस्यों ने उनके घर के आगे से मुख्य द्वार निर्माण कार्य आरंभ कर दिया है। अपनी फरियाद अनसुनी करने को लेकर गुरुवार को मोहम्मद जावेद घर जिला एसडीओ कार्यालय के बाहर धरने लगभग 6 घंटों न्याय की मांग करते हुए धरने पर बैठे थे। शौर्य चक्र विजेता को एसडीओ चेंबर के बाहर धरने पर बैठने का मामला प्रकाश में आने के बाद बहरागोड़ा के पूर्व विधायक सह भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल सारंगी ने इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए सर चक्र विजेता मोहम्मद जावेद के समर्थन में आवाज बुलंद की है। जानकारी हो कि गुरुवार को ही कुणाल सारंगी ने ट्वीट के

माध्यम से झारखंड सरकार और पूर्वी सिंहभूम जिला प्रशासन का इस असहाय में ध्यान आकृष्ट करते हुए सवाल किए थे। साथी मोहम्मद जावेद को परेशान करने वालों पर अभिलंब कार्रवाई सुनिश्चित करने की मांग की थी। मामले को तूल पकड़ता देख राज्य सरकार ने भी इसे गंभीरता से लिया है।राज्य के पुलिस महानिदेशक ए बी राव सहित कोल्हान डीआईजी राजीव रंजन सिंह ने भी इस मामले में जांच और दोषियों पर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

इधर जिले के उपायुक्त सूरज कुमार के निर्देश पर जांच दल का गठन किया गया है। डीसी के निर्देश पर घाट जिला एसडीओ और अंचल अधिकारी ने इस मामले में जांच प्रारंभ कर दी है। संबंधित जानकारी जमशेदपुर पुलिस ने अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से पूर्व विधायक कुणाल सारंगी द्वारा की गई टूट के आलोक में दी है। विदित हो कि सौर चक्र विजेता मोहम्मद जावेद ने एसडीओ कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठकर ऐलान किया था कि उन्हें यदि न्याय नहीं मिला तो वह अपने सामान को सरकार को वापस कर देंगे इस वीडियो के सामने आने के बाद संवेदनशीलता दिखाते हुए पूर्व विधायक कुणाल सारंगी ने मामले में हस्तक्षेप कर कार्रवाई की मांग की थी

Related Post