Sat. Apr 20th, 2024

पारम्परिक स्वशासन गांवता धालभूम परगना का वार्षिक अधिवेशन

 

पोटका प्रखंड अंतर्गत पावरू संस्कृति कला भवन परिसर में रविवार18-2- 2024 को वार्षिक अधिवेशन दीगर जयपाल सिंह सरदार के अध्यक्षता में हुई। अधिवेशन में लिए गए निर्णय वर्ष 2023 के निर्णय के अनुसार जिसमें ग्राम सभा का गतिविधि एवं उपलब्धियां, 2023 से 24 में ग्राम सभा एवं ग्राम समाज के नेतृत्वकर्ताओं का अपने-अपने कार्य का प्रस्तुति किया गया। विवादों का निपटारा ग्राम न्यायालय में निपटारा एवं प्राकृतिक संसाधनों का संवर्धन रिपोर्ट पेश किया गया। सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन एवं कार्य संपादन की रिपोर्ट पेश किया गया। जाहिराथान, मसान, श्मसान, उकसासन, एवं गोठान दांड़ीओ का स्थिति के बारे में जानकारी लिया गया। यह वार्षिक अधिवेशन पारम्परिक स्वशासन गांवता की नेतृत्व कर्ताओं का पारदर्शिता एवं सुचारू रूप संचालन हेतु किया गया। ज्ञात हो की वर्ष 2018 में गांव समाज की स्वशासन की नेतृत्व करताओं की सरकार द्वारा सम्मान राशि दिया जा रहा है। परंतु आदिवासी भूमिज- समाज के स्वशासन के नेतृत्व कर्ताओं के साथ भेदभाव किया जा रहा है। अब तक ग्राम प्रधानों को 80 प्रतिशत एवं दिगर, सरदार, नायके, पायक, घटवाल, नाया, कूड़ाम नाया, देउरी, डाकुआ, पाड़ी गिराई, शान जगबाड़ी,जान एवं डांडिया को 100 प्रतिशत वंचित किया गया है। वर्ष 2023 -24 में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले नेतृत्वकर्ताओ को सम्मानित किया गया । वार्षिक अधिवेशन में चार बिंदुओं पर सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। पहला, ग्राम सभा को सशक्त किया जाएगा। दूसरा, सरकार के विकास योजनाओं में हमारे आदिवासियों का अस्तित्व एवं पहचान का काम किया जाएगा। तीसरा, ग्राम समाज के स्वशासन नेतृत्व कर्ताओं का दोबारा सम्मान राशि देने के लिए ज्ञापन सौंपा जाएगा। चौथ ,गांव समाज के नेतृत्व कर्ताओं का अगले कार्यक्रम के लिए एवं सतत कार्य गतिविधि जारी रखा जाएगा। इस मौके पर सिद्धेश्वर सरदार, हरिश सिंह भूमिज , सुदर्शन भूमिज ,नायके रोथु सिंह सरदार, युगल सरदार ,ग्राम प्रधान डिगाम सरदार, शत्रुघ्न सरदार, नाया विपिन सरदार, डाकुआ सुपेंद्र सरदार, पाड़ी गिराई राजू सरदार, मौमिता सरदार, जयंती सरदार, गौरी सरदार, कांतामणि सरदार के साथ आदि लोग उपस्थित रहे।

 

Related Post