क्या है RTGS? ये IMPS और NEFT से कितना है अलग, जानें यहां

0
548

नई दिल्ली

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को घोषणा की कि रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) भुगतान प्रणाली ऑनलाइन फंड ट्रांसफर को सुचारू बनाने के लिए दिसंबर 2020 से चौबीस घंटे उपलब्ध होगी। अभी तक आरटीजीएस के तहत, न्यूनतम 2 लाख रुपये ट्रांसफर किया जा सकता है और यह सुविधा केवल बैंकों के काम के घंटों के दौरान उपलब्ध है।

आरटीजीएस फंड ट्रांसफर करने की एक तेज प्रक्रिया है। इस सिस्टम के जरिए आप एक बैंक अकाउंट से दूसरे में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। आरटीजीएस का फुल फार्म Real Time Gross Settlement है। आरटीजीएस और NEFT में अगर अंतर देखा जाए तो दोनों का काम बैंक अकाउंट में इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर है।

एनईएफटी में जहां पैसे ट्रांसफर करने की कोई लिमिट नहीं है तो वहीं आरटीजीएस में आपको कम से कम दो लाख रुपये का ट्रांसफर करना होगा। एनईएफटी में फंड दूसरे खाते में पहुंचने में थोड़ा समय लगता है पर RTGS में यह तुरंत पहुंच जाता है। आईएमपीएस में तुरंत दूसरे के खाते में पैसे ट्रांसफर हो जाते हैं। ये सर्विस सातों दिन 24 घंटे काम करती है

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा, “दिसंबर 2019 में RBI ने 24x7x365 आधार पर नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फ़ंड ट्रांसफ़र (NEFT) सिस्टम उपलब्ध कराया और तब से यह प्रणाली सुचारू रूप से चल रही है। ताकि घरेलू व्यवसायों और संस्थानों के लिए रियल टाइम में स्विफ्ट और निर्बाध भुगतान की सुविधा प्रदान की जा सके। अब आरटीजीएस प्रणाली को दिसंबर 2020 से सभी दिनों में चौबीसों घंटे उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है।”

जानें आरटीजीएस के फायदे

1. आरटीजीएस फंड ट्रांसफर के लिए एक सुरक्षित प्रणाली है।

2. इस भुगतान प्रणाली में कोई राशि कैप नहीं है।

3. निधियों का निपटान भारतीय रिजर्व बैंक की पुस्तकों में होता है। तो, भुगतान अंतिम और अपरिवर्तनीय हैं।

4. अब तक, RTGS 24×7 प्रणाली नहीं है। आरबीआईजीएस सेवा विंडो ग्राहक के लेनदेन के लिए आरबीआई के अंत में निपटान के लिए कार्य दिवस पर सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक बैंकों के लिए उपलब्ध है। हालांकि, बैंक जिन समय का पालन करते हैं वो अलग-अलग बैंकों के लिए अलग-अलग हो सकते हैं।

5. आरटीजीएस प्रणाली मुख्य रूप से बड़े मूल्य के लेनदेन के लिए है। RTGS के माध्यम से प्रेषित की जाने वाली न्यूनतम राशि 2,00,000 रुपये है, जिसमें कोई ऊपरी या अधिकतम सीमा नहीं है।

6. एनईएफटी एक इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर सिस्टम है जिसमें किसी विशेष समय तक प्राप्त लेनदेन को बैचों में संसाधित किया जाता है। इसके विपरीत, आरटीजीएस में, लेनदेन को आरटीजीएस व्यावसायिक घंटों के दौरान लेनदेन के आधार पर लगातार संसाधित किया जाता है।