बिहार चुनाव की बिगुल बजते ही झारखंड की राजनीति भी गरमाने लगी video 👇

0
427

 जमशेदपुर: बिहार चुनाव की बिगुल बजते ही झारखंड की राजनीति भी गरमाने लगी है. आपको बता दें बिहार में एनडीए के जदयू एनडीए का मुख्य घटक दल है, लेकिन झारखंड विधानभा चुनाव में भाजपा और जदयू ने अलग- अलग चुनाव लड़ा था. ये अलग बात है कि झारखंड में जदयू का खाता भी नहीं खुला. वहीं एक बार फिर से झारखंड की सियासत में जदयू एनडीए का घटक दल होने के नाते हिस्सेदारी चाह रहा है. जहां जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने साफ कर दिया है, कि झारखंड में होनेवाले उपचुनाव में दुमका सीट पर उनकी पार्टी को हिस्सेदारी मिलनी चाहिए. [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=BYWtUlUF3G4[/embedyt]वैसे बेरमें सीट पर उन्होंने भाजपा का साथ देने का भरोसा दिलाया है. वैसे इसके पीछे उन्होंने भाजपा नेतृत्व में प्रत्याशी को लेकर जारी खींचतान का दिया है. उन्होंने बताया कि दुमका सीट से भाजपा पूर्व मंत्री रहीं डॉ लुईस मरांडी पर दुबारा दांव नहीं लगाना चाह रही, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है. ऐसे में जदयू दुमका सीट पर मजबूत स्थिति में है, और गठबंधन धर्म के तहत जदयू को दुमका सीट मिलनी चाहिए. ऐसे में अब बिहार बिधानसभा चुनाव से ठीक पहले सालखन मुर्मू ने इसे दोनों दलों के लिए एक यक्ष प्रश्न के रूप में छोड़ दिया है. वैसे झारखंड विधानसभा चुनाव में भी जदयू एनडीए का हिस्सा था, लेकिन यहां जदयू और भाजपा अलग- अलग चुनाव लड़ी, जहां जदयू का खाता भी नहीं खुल सका और भाजपाको सत्ता से दूर होना पड़ा. फिलहाल सालखन मुर्मू ने एक राजनीति बहस के मुद्दे को हवा दे दी है.