नीतीश सिंह होंगे धालभूम के नए एसडीओ, सोमवार को संभालेंगे पदभार, कोविड-19 जीतने के बाद ही प्राथमिकता तय की जाएगी

0
489

जमशेदपुर:कोविड-19 के खिलाफ सरकार एवं प्रशासन की ओर से चल रही जंग में अहम भूमिका निभाना ही पहली प्राथमिकता होगी। यह कहना धालभूम  के नए एसडीओ नीतीश कुमार सिंह एवं घाटशिला के नए एसडीओ सत्यवीर रजक का कहना है। कोविड-19 जीतने के बाद ही अगली प्राथमिकता तय की जाएगी। भारतीय प्रशासनिक सेवा के 2017 बैच के अधिकारी सिंह दल भूमि के एसडीओ बनाए जाने से पूर्व बोकारो बेरमो के एसडीओ थे एवं सत्यवीर रजक खूंटी में कार्यपालक दंडाधिकारी के पद पर पदस्थापित थे। पलामू पाकी के नीम चौक पथरा गांव के रहने वाले नीतीश कुमार सिंह की परीक्षा भवनाथपुर में हुई थी। प्लस टू की पढ़ाई बोकारो से करने के बाद धनबाद के इंडियन माइंस ऑफ माइनिंग से बीटेक किया।

बिना कोचिंग के तीसरे प्रयास में प्रशासनिक सेवा में मिली सफलता

बीटेक के बाद नीतीश कुमार सिंह ने भारतीय प्रशासनिक सेवा की तैयारी के लिए दिल्ली के मुखर्जी नगर का रुख करने की सोची लेकिन बाद में धनबाद में रहकर तैयारी की और रांची आ गए। रांची में सेल्फ स्टडी से तैयारी कि बिना किसी कोचिंग किए नीतीश कुमार तीसरे प्रयास में भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए चयनित हुए एवं राष्ट्रीय स्तर पर उनकी रैंकिंग 23 वी रही। होम थिएटर में आने के बाद उनकी पहली पोस्टिंग बेरमो एसडीओ पद पर हुई थी जहां से धालभूम के एसडीओ बनाए गए। उनके पिता प्रयाग सिंह बोकारो स्टील प्लांट के सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं वह मां इंदिरा देवी ग्रहणी है नीतीश सोमवार तक पद ग्रहण करेंगे।

घाटशिला कमलेश सिंह