Sun. May 19th, 2024

सोशल एक्टिविस्ट पंकज कुमार यादव ने टाइग़र रिजर्व क्षेत्र में वन विभाग के अधिकारीयों पर अवैध बालू उठाव का आरोप लगाया है।

सोशल एक्टिविस्ट पंकज कुमार यादव ने टाइग़र रिजर्व क्षेत्र में वन विभाग के अधिकारीयों पर अवैध बालू उठाव का आरोप लगाया है।

महुआडांड़ शहजाद आलम

सोशल एक्टिविस्ट पंकज कुमार यादव ने टाइग़र रिजर्व क्षेत्र में वन विभाग के अधिकारीयों पर अवैध बालू उठाव का आरोप लगाया है .पंकज यादव ने पलामू टाइगर रिजर्व के दक्षिणी प्रमंडल क्षेत्र में वन अधिकारीयों व कर्मियों पर अवैध बालू उठाव को लेकर डीसी लातेहार से शिकायत की है

.पंकज यादव ने अपने पत्र में लिखा है कि महाशय , हमारी संस्था सेंटर फॉर आरटीआई भ्रष्टाचार के खिलाफ झारखंड में कार्य करती है। मेरी एक जनहित याचिका के आलोक में (पंकज कुमार यादव बनाम झारखंड सरकार PIL no: 6445/2019)पलामू प्रमंडल में अवैध खनन पर रोक लगाए गए हैं तथा वर्तमान में एनजीटी के गाइडलाइन के अनुरूप किसी भी प्रकार के बालू उठाव पर पूर्णत: प्रतिबंध है , इसके बावजूद लातेहार जिले के पलामू टाइगर रिजर्व दक्षिणी प्रमंडल के बारेसाढ़ रिजर्व एरिया के पचनदिया, बघढुलवा नाला से वन विभाग के पदाधिकारी के संरक्षण में बिना नंबर के ट्रैक्टर से बालू का उठाव हो रहा है .वन प्रक्षेत्र बारेसांढ़ के टेनो, गंगतर मे इंक्लोजर निर्माण मे इन नदियों से बालू उठाकर कर लगाया जा रहा है. महोदय वन विभाग के अधिकारी पदाधिकारी तथा कर्मियों की इस गैर कानूनी करतूत पर संज्ञान लेने की कृपा करें ताकि जिनके जिम्मे में वन संपदा के संरक्षण की जिम्मेदारी है वे लोग कम से कम वन संपदा के दोहन में अपनी भागीदारी ना निभाए.पंकज यादव ने पत्र के साथ नदी में हो रहे बालू उठाव की तस्वीर भी उपायुक्त को उपलब्ध कराई है. उल्लेखनीय है कि पंकज यादव जनहित मामले को लेकर दर्जनों जनहित याचिका झारखंड हाई कोर्ट में दाखिल की है तथा वर्तमान में पलामू प्रमंडल में हो रहे अवैध खनन को लेकर एक एसआईटी का गठन पंकज के याचिका पर ही हुई है।

Related Post