Sun. May 26th, 2024

पीएसएफ के योद्धा विजन सरकार ने पहला तो111 बार एसडीपी रक्तदान कर मानव सेवा के नाम किया समर्पित

*” किरणमयी उत्सव ” के तहत इस अभियान में, आज दिनांक 8 मई 2023 चौथे दिन, विश्व थैलेसीमिया डे एवं मात्री दिवस के पावन शुभ अवसर पर, एक मिसाल पेश किया पीएसएफ के योद्धा ” विजोन सरकार ” ने अपना पहला सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी एसडीपी रक्तदान करते हुए 36 वां स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान, जुगसलाई निवासी सतपाल सिंह जी ने 13 बां एसडीपी रक्तदान करते हुए अपना 111 वां स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. इन दोनों के एसडीपी रक्तदान के साथ-साथ प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन यानी पीएसएफ का एसडीपी रक्तदान के क्षेत्र में 416 वां एसडीपी रक्तदान का आंकड़ा भी पूर्ण हो गया. दोनों रक्त दाताओं में गजब का उत्साह, जोश और किसी जरूरतमंद के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा कूट-कूट कर भरा था. और हो भी क्यों ना दोनों में उनके सोच, विचारधारा, पीड़ित मानवता की सेवा हेतु हमेशा तत्पर रहना, यह भी तो अंदर समाया हुआ है. आज रक्तदान करने के पश्चात विजोन सरकार एवं सतपाल सिंह जी को जमशेदपुर ब्लड सेंटर एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन की ओर से प्रशस्ति पत्र के साथ-साथ प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. एवं एसडीपी रक्तदान जागरूकता को प्रोत्साहन देने हेतु जमशेदपुर के बहुचर्चित व्यवसायी श्रीमान शेखर डे महाशय जी के द्वारा रक्तदान जागरूकता टीशर्ट एवं दीप सेन के द्वारा प्रतीक चिन्ह, रक्त दाताओं को प्रदान किया गया. इस मौके पर जमशेदपुर ब्लड सेंटर के अनुभवी एवं वरीय चिकित्सक डॉक्टर विनीता कामत, अनुभवी तकनीशियन धीरज कुमार, स्वपन राना, प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के निर्देशक अरिजीत सरकार, एवं कुमारेस हाजरा. उपस्थित रहे

Related Post