Sun. May 26th, 2024

एसडीपी रक्तदान के क्षेत्र में प्रतिक संघर्ष फाउंडेशन का 343 बा एसडीपी रक्तदान का अकड़ा हुआ पूर्ण

 

” गुरु पूर्णिमा ” के पावन शुभ अवसर पर जमशेदपुर ब्लड सेंटर एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के आह्वान पर, त्वरित कार्रवाई करते हुए ” 5 योद्धाओं ” ने समयानुसार अपने व्यस्ततम समय में से समय निकालकर, अस्पताल में इलाजरत उन जरूरतमंद लोगों के लिए अपने कदम आगे बढ़ा कर दीया मानवता का परिचय. इस कड़ी में पहला टाटा मुख्य अस्पताल के वरिय पदाधिकारी जहां अपना 20 बा एसडीपी रक्तदान के साथ 130 बा स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान कर परचम लहराने वाले शतकवीर रक्तदाता ” टी. दीपक जी वने, टाटा मोटर्स में कार्यरत ” नीरज कुमार ” ने अपना 5 बा एसडीपी रक्तदान के साथ जहां 34 बा स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. ” शशीकांत सिंह ” ने 10 बा एसडीपी रक्तदान के साथ जहां अपना 21बा स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. ” मनिंदर सिंह उर्फ विक्की ” ने अपना 5 बा एसडीपी रक्तदान के साथ जहां 32 बा स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. टाटा मुख्य अस्पताल के पदाधिकारी ” राकेश कुमार ” जी ने अपना 32 बा एसडीपी रक्तदान के साथ जहां 52 बा स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. इसी के साथ ” प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन ” ने एसडीपी रक्तदान यानी ” सिंगल डोनर प्लेटलेट्स रक्तदान ” के क्षेत्र में ” 343 बा रक्तदान ” के आंकड़े को भी पूर्ण कर लिया. इन्हीं योद्धाओं के चलते आज जमशेदपुर शहर रक्तदान के क्षेत्र में एक अलग पहचान बनाता है. नमन करते हैं ऐसे योद्धाओं के जज्बे को, उनके तत्परता को. यह सभी वीर रक्तदाता एक आह्वान पर अपने आपको समाज के लिए समर्पित करते हुए, किसी जरूरतमंद व्यक्ति के लिए उनके अंधेरा रुपी जीवन में दिया जलाने का कार्य करते हैं. सभी रक्त दाताओं को रक्तदान करने के पश्चात जमशेदपुर ब्लड सेंटर की ओर से प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन ( पीएसएफ के कर्मठ योद्धा दीप सेन ) की ओर से प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. वहीं सभी को तहे दिल से आभार प्रकट किया गया. इस पावन बेला पर जमशेदपुर ब्लड सेंटर के चेयरपर्सन रुचि नरेंद्रन, सचिव नलिनी राममूर्ति, सह सचिव रविन दुग्गल, जीएम- संजय चौधरी, वरिय एवं अनुभवी चिकित्सक डॉक्टर लव बहादुर सिंह, अनुभवी तकनीशियन अनूप कुमार श्रीवास्तव, एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के निर्देशक अरिजीत सरकार. उपस्थित रहे

Related Post