Sun. May 19th, 2024

मुस्लिमों ने कलाल जाती बीसी वन करने की मांग को लेकर बैठक

मुस्लिमों ने कलाल जाती बीसी वन करने की मांग को लेकर बैठक

चंदवा संवाददाता मुकेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

चंदवा। चंदवा शहर के तिलैयाटांड़ स्थित मदरसा खैरुलुल उलुम में मंगलवार को जमीयतुल इराकीन (कलाल) बिरादरी की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई।बैठक की अध्यक्षता मौलाना रिज़वान दानिश नदवी के द्वारा की गई।बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में जमीयतुल इराकीन के प्रदेश कन्वेनर मंजूर हसन कासमी, यूथ विंग के कन्वेनर शाह उमैर समेत खुर्शीद हसन रूमी मौजूद थे। मो रूमी ने कलाल बिरादरी के मौजूदा हालात पर चर्चा करते हुए कहा कि जमीयतुल इराकीन एक सबसे पुरानी जाती है झारखंड में मुस्लिम कम्युनिटी के तहत यह जाती दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाली जाती है पर अफसोस की बात यह है कि यह बिरादरी अभी तकआर्थिक,शैक्षणिक,सामाजिक दृष्टिकोण से काफी पिछड़ी हुई है संयुक्त बिहार के वक्त कलाल को बीसी टू में शामिल किया गया था पर झारखंड अलग होने के बाद इसकी सूद अभी तक किसी ने नहीं ली है।इस बिरादरी के लोग अभी भी खेती बाड़ी, मजदूरी, हमाली और छोटे मोटे कार्य कर अपना जीवन यापन कर रही है।मंजूर हसन कासमी ने कहा कि आज भी हमलोग राजनीतिक पार्टियों के लिए सिर्फ वोट बैंक बन कर रह गये है। जनाब क़ासमी साहब ने उपस्थित लोगों को आह्वान करते हुए कहा कि इराकीन (कलाल) को बीसी टू से हटाकर बीसी वन में शामिल कराने की मांग को लेकर जोरदार आंदोलन के लिए तैयार रहने की जरूरत है। शाह उमैर साहब ने कहा कि आगामी 20 नवंबर को रांची इटकी में प्रदेश स्तरीय प्रतिनिधि सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें सरकार के कई मंत्री व विधायक शिरकत करेंगे उन्होंने लोगो से उस दिन ज्यादा संख्या में भाग लेने की अपील की।बैठक को चंदवा पूर्व उप प्रमुख फिरोज अहमद, अंजुमन के सदर मो अब्दाल,डॉ शम्स राजा,आदिल भाई रांची,मुबारक आलम, मो एहतेशाम आलम,इरशाद मुन्ना,आरिफ आलम,नौशाद आलम, आदि ने भी संबोधित किया।बैठक में मो अब्दाल साहब को चंदवा प्रखंड का कन्वेनर चुना गया है जबकि यूथ विंग कन्वेनर के रूप में डॉ शम्स राजा का चयन किया गया।बैठक में मो अरशद,तनवीर आलम,मो नसीम,आदिल समेत कई लोग मौजूद थे।

Related Post