Fri. Jun 21st, 2024

गारू थाना क्षेत्र के पीरी ग्राम निवासी ब्रह्मदेव सिंह पर सुरक्षा बलों द्वारा गोलीबारी कर हत्या करने की आरोप की न्यायिक जांच की मांग को लेकर गावों के सैंकड़ों ग्रामीणों व विभिन्न जन संगठनों

लातेहार।गत12 जून 2021 को गारू थाना क्षेत्र के पीरी ग्राम निवासी ब्रह्मदेव सिंह पर सुरक्षा बलों द्वारा गोलीबारी कर हत्या करने की आरोप की न्यायिक जांच की मांग को लेकर गावों के सैंकड़ों ग्रामीणों व विभिन्न जन संगठनों के प्रतिनिधियों ने लातेहार ज़िला मुख्यालय में विरोध प्रदर्शन किया। धरना का आयोजन पिरी ग्राम सभा , अखिल भारतीय आदिवासी महासभा, अखिल झारखंड खरवार जनजाति विकास परिषद, झारखंड जनाधिकार महासभा व संयुक्त ग्राम सभा लातेहार, पलामू, गढ़वा जिला ने किया। ग्रामीण की हत्या को दरकिनार कर पुलिस ने मृत ब्रम्हदेव समेत छह युवकों पर ही आपराधिक प्राथमिकी दर्ज कर दिया,जबकि मृतक ब्रम्हदेव की पत्नी जीरामनी देवी व ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन व पुलिस को आवेदन देकर ब्रम्हदेव की हत्या के लिए ज़िम्मेवार सुरक्षा बलों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने की मांग किया, लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी।

धरना की शुरुआत मृत ब्रम्हदेव सिंह को याद करते हुए दो मिनट का मौन रख कर किया गया। धरना को संबोधित करते हुए रघुपाल सिंह ने कहा कि झारखंड में आदिवासियों पर शोषण हो रहा है पर कोई भी राजनैतिक पार्टी उनके समर्थन में नहीं है। प्रमोद गुप्ता ने कहा कि सिंह को न्याय दिलाने के लिए ज़िला से लेकर राज्य तक संघर्ष करने के लिए वे तैयार हैं। लाल मोहन सिंह ने कहा कि ग्रामीणों को जागरुक होना होगा और एकता बनाए रखनी होगी। जीरामनी देवी ने अपने अब तक के संघर्ष के बारे में बताया और न्याय की अपील की। ज़िला परिषद अध्यक्ष सुनीता देवी ने कहा कि जीरामनी देवी को मुआवज़ा और सरकारी नौकरी मिले और जब तक स्व सिंह को न्याय नहीं मिलती तब तक हम सब एक साथ संघर्ष करेंगे। धरनार्थियों ने

पुलिस द्वारा ब्रम्हदेव समेत आदिवासियों पर दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने , गोलीकांड की न्यायिक जांच कराने,

जीरामनी देवी को 10 लाख रु मुआवज़ा व सरकारी नौकरी देने , सरकार पर उनके अबोध बच्चे की पढ़ाई और परवरिश की जिम्मेवारी लेने समेत कई मांग सरकार से किया है।

Related Post