Mon. Jun 24th, 2024

महुआडांड़ अनुमंडल कार्यालय अधिक्षक के हुई हार्ड अटैक से मौत। अनुमंडल कार्यालय के लिए अपूरणीय क्षति।

महुआडाड अनुमंडल में कार्यरत कार्यालय अधिक्षक भागीरथी राम का अचानक आज सुबह हार्ड अटैक आने से मौत हो गई। जिसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में लोगों की भीड़ लगने लगी सभी लोग देखने के लिए पहुंचने लगे। मौके पर अनुमंडल पदाधिकारी नीत निखिल सुरीन, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रतीभान सिंह प्रखंड विकास पदाधिकारी टू डू दिलीप महुआडांड़ थाना प्रभारी असीम रजक समेत अनुमंडल प्रखंड अंचल के कर्मी अन्य राजनीतिक दल के प्रतिनिधि एवं महुआडांड़ के सैकड़ों लोग पहुंचे हुए थे। घटना की इसकी जानकारी देते हुए अनुमंडल पदाधिकारी नीत निखिल सूरीन ने बताया कि सुबह मॉर्निंग वॉक के लिए निकले हुए थे कि अचानक सीने में जलन महसूस होने लगा जिसके उपरांत के उन्हें किसी के द्वारा उनका डेरा में लाया गया। डेरा पहुंचने के उपरांत उनकी और भी तबीयत बिगड़ती गई। जिसे देखते हुए उन्हें आनन फानन महुआडांड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाने के तुरंत बाद उनकी मौत हो गई। इसकी पुष्टि करते हुए प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर गनेश राम ने बताया कि इनकी मौत हो गई है।

जानकारी के अनुसार कई वर्षों से महुआडांड़ प्रखंड कार्यालय में बड़ा बाबू की पद पर कार्यरत थे। जिसके बाद 4 वर्ष पूर्व अनुमंडल कार्यालय में कार्यालय अधीक्षक के पद पर कार्यरत हुए थे। आगे अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि यह बहुत ही अच्छे स्वभाव के व्यक्ति थे और यह अपने कार्य के प्रति हमेशा समर्पित रहते थे कार्यालय में भी इनका सभी के साथ अच्छा व्यवहार रहा है।इनकी मृत्यु अनुमंडल कार्यालय के लिए अपूरणीय क्षति है।और महुआडांड़ अन्य लोगों ने भी बताया कि इनका व्यवहार सभी के साथ बहुत ही अच्छा था इनकी असमय मृत्यु से महुआडांड़ में शोक की लहर है। लोगों को बहुत ही दुख का महसूस हो रहा है।वहीं मृतक भागीरथी राम के दो और एक बेटी है। वही बेटी की शादी हो चुकी है और दोनों बेटे बालिग हैं जो की पढ़ाई कर रहे हैं।

संवाददाता  शहजाद आलम महुआडांड़ से रिपोर्ट बबलू खान की

Related Post