Tue. Apr 23rd, 2024

गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर मऊ भंडार गुरुद्वारा में हुआ शबद कीर्तन एवू अटूट लंगर का आयोजन

घाटशिला:-सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंंह के 351वां प्रकाश पर्व के मौके प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी बुधवार को श्रीगरुसिंह सभा मऊभंडार की ओर से हर्षोल्लास और उमंग के साथ मनाया गया। इस अवसर पर मऊभंडार गुरुद्वारे को आकर्षक रंग-बिरंगी लाइटों से सजाया गया था। साथ ही गुरुद्वारे में कई धार्मिक आयोजन हुए। इसमें बड़ी संख्या में समाज के लोगों ने हिस्सा लिया।

ये भी जाने

इस बार कैविड 19 को ध्यान में रखते हुए गुरु गोविंद सिंह के प्रकाशोत्सव पर प्रत्येक वर्ष तीन दिनों का नगर कीर्तन एवं प्रभात फेरी नहीं निकाली गई । लेकिन 18 जनवरी से 20 जनवरी तक गुरुद्वारा में अखंड पाठ हुआ जिसके समापन के बाद अंतिम अरदास के बाद प्रसाद का वितरण करने के बाद गुरु का अटुट लंगर का आयोजन किया गया । जिसमें विभिन्न समुदायों के हजारों की संख्या में लंगर का स्वाद चखा ।

क्या कहते गुरु सिंह सभा के प्रधान हरभजन सिंह उर्फ पजे

प्रधान हरभजन सिंह उर्फ पजे एवं सचिव बलबीर सिंह ने संयुक्त रूप से बताया कि इस वर्ष कोविड 19 को लेकर तीन दिनों का नगर कीर्तन एवं प्रभात फेरी नहीं निकाली गई लेकिन 18 जनवरी से सुबह अखंड पाठ शुरू हुआ एवं 20 जनवरी की सुबह निशान साहब की सेवा एवं अखंड पाठ का समापन हुआ। साथ ही दिनभर शबद कीर्तनों का आयोजन हुआ। इसके बाद दोपहर बाद समूह संगत एवं अटूट लंगर हुआ। इसमें समाज के लोगों ने हिस्सा लिया। प्रकाश पर्व का बच्चों में बहुत उत्साह देखा गया। अखंड पाठ समापन के बाद श्रद्धालुओं में प्रसाद का वितरण करने के बाद गुरु का अटूट लंगर का आयोजन किया गया। जिसमें विभिन्न समुदायों के हजारों लोगों ने लंगर का स्वाद चखा।

ये हैं मऊभंंडार गुरुवार कमेटी के सदस्य प्रधान हरभजन सिंह उर्फ पजे, सचिव बलबीर सिंह, मित प्रधान सुखदेव सिंह बिल्ल, जितेंद्र सिंह धारिवाल, परमजीत सिंह भुटटर, मनोहर सिंह बाबरा , मनोहर सिंह संधू, त्रिलोचन सिंह एवं कीर्तन मंडली में ग्रंथी ज्ञानी रत्न सिंह एवं उनके सहयोगी में हरभजन सिंह समेत कई लोग शामिल हैं ।

Related Post