कंपनियों के साथ यारी निभा रही है मोदी सरकार – माले!

0
296
किसान कानूनों के खिलाफ कई गांवों में माले की मीटिंग

गिरिडीह

किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ जारी अभियान के तहत आज भाकपा माले की ओर से गांडेय प्रखंड के चितरपोकी, दुलहडीह, लोहारी तथा बेंगाबाद के मानजोरी में ग्रामीणों के साथ मीटिंग की गई।

उक्त मीटिंगों में नए किसान कानूनों पर चर्चा करते हुए इसे कंपनियों के लिए हितकारी तथा किसानों के विरोध में बताया गया तथा तीनों कानून वापस लेने की मांग की गई।

मौके पर अपने संबोधित में भाकपा माले के राज्य कमेटी सदस्य राजेश कुमार यादव ने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों के खिलाफ जो कानून लाए हैं वह पूरे कृषि सेक्टर को कंपनियों के हवाले करने की साजिश के तहत लाए गए हैं। इन कानूनों की असलियत जान जाने के कारण ही देश भर के लाखों करोड़ों लोग इसका विरोध कर रहे हैं। लेकिन कंपनियों के साथ यारी निभाने वाली मोदी सरकार इस देश के किसानों की आवाज अनसुनी कर देना चाहती है।

श्री यादव ने लोगों से बढ़-चढ़कर किसान आंदोलन का समर्थन करने की अपील की तथा आगामी 16 जनवरी को इन्हीं सवालों को लेकर गांडेय में आयोजित मानव श्रृंखला कार्यक्रम में भाग लेने का आह्वान किया।

आज के अभियान के दौरान मुख्य रूप से मेहताब अली मिर्जा, खीरू दास, रिंकू साव, बलदेव यादव, महेंद्र साव, रामकिशोर सिंह, जिबलाल सिंह, शिबू राम, निरंजन स्वर्णकार आदि मौजूद थे।

गिरिडीह से डिम्पल की रिपोर्ट