Mon. Apr 22nd, 2024

अनुमंडल अस्पताल: मरीजों के लिए 15 हजार की ईसीजी मशीन की नहीं हो सकी खरीदारी, पर बाबू के कक्ष में 40 हजार की एसी

ईसीजी कराने के लिए हर दिन दर्जनों लोग को जमशेदपुर किया जाता है रेफर, अल्ट्रासाउंड के लिए मरीज परेशान

घाटशिला :घाटशिला अनुमंडल अस्पताल प्रबंधन के वैसे बाबुओं को यह खबर अच्छी नहीं लगेगी जिनके कक्ष में हाल ही के दिनों में 40 हजार रुपए खर्च कर ऐसी लगाया गया है। मरीजों के लिए अस्पताल में एक ईसीजी की सुविधा नहीं है। इसकी खरीददारी पर केवल 15 हजार रुपए खर्च है। इसलिए सवाल मरीज उठा रहे हैं? अस्पताल प्रबंधन ने अपनी जरूरतमंद के साथ मरीजों की आवश्यक सुविधाओं को भी प्राथमिकता दें। केवल इसी जी कराने के लिए अस्पताल से हर दिन दर्जनों लोगों को जमशेदपुर रेफर किया जाता है। अल्ट्रासाउंड के लिए मरीज परेशान होते हैं। जरूरी उपकरणों की खरीदारी के बजाय बाबू के चेंबर में ऐसी लगाया जा रहे है। अस्पताल से मरीजों को जो सुविधा 10 वर्ष पहले मिला करती थी उनमें बहुत कम ही परिवर्तन आया है। लेकिन गत 6 वर्षों में अस्पताल के कर्मियों की सुविधा में काफी परिवर्तन देखने को मिल रहा है। अस्पताल की ओपीडी दवा वितरण केंद्र प्रसव केंद्र के बाहर मरीजों की सुविधा के लिए पंखा तक सही स्तर पर नहीं लगाया गया है। लेकिन अस्पताल के बीपीएम लेखा प्रबंधक समेत कई कर्मियों के कक्ष में लगभग 40 हजार रुपए खर्च कर ऐसी लगवा दिया गया है। इससे अस्पताल प्रबंधन समिति और अस्पताल क्रय समिति की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। अस्पताल के मेडिसिन स्टाफ रूम में जहां लाखों रुपए की दवा रखी हुई है इस कक्ष में एक भी ऐसी नहीं है। इस कक्ष में केवल वहां तैनात करने के लिए पंखा लगा है। कक्ष का तापमान ज्यादा रहने से कई आवश्यक दवाएं के खराब होने का खतरा बना रहता है। हर दिन मरीज अस्पताल में आवश्यक सुविधाओं की कमी के कारण रेफरी आदि ने उपचार के लौटने को मजबूर हैं।

घाटशिला : कमलेश सिंह

Related Post