Fri. Jun 21st, 2024

राजनगर में यूरिया की किल्लत से किसान है परेशान -video

By Rajdhani News Aug 29, 2020 #rajnagar #Uria

राजनगर : राजनगर प्रखंड क्षेत्र में इन दिनों किसानों को यूरिया खाद मिल नही रही।और जहां मिल रही है वहाँ दुगना दाम वशूल किया जा रहा है। बता दें कि इस वर्ष किसानों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है।एक तरफ सही समय पर वर्षा नही हुई।और हुई भी तो उपज के अनुरूप नही हुई।जब किसानों के खेत मे पानी की जरूरत थी तभी बारिश सही मात्रा में नही हुई।जैसे तैसे किसान अपने खेतों में हल जोतकर खेती की तो अब अच्छी फसल के लिए खाद की किल्लत होने लगी।[embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=5g4-EyGx3hU[/embedyt]

राजनगर में यूरिया प्रयाप्त मात्रा में उपलब्ध नही होने की वजह से किसान अब दूसरे जिले से दुगने दाम में यूरिया लाने को मजबूर है।वहीं लंबी सफर तय कर यूरिया लाते एक किसान ने बताया कि राजनगर में यूरिया नही मिलने की वजह से हमे पूर्वी सिंहभूम जिले के हल्दीपोखर से यूरिया लानी पड़ रही है।जो कि हमारे गांव से करीब 30 किलोमीटर दूरी पर है। वहीं राजनगर के किसानों ने यूरिया की किल्लत पर सरकार और जिले की व्यवस्था पर सवाल उठाया, और राजनगर प्रखंड में भी सरकारी मूल्य पर यूरिया उपलब्ध कराने की मांग की है। वहीं किसानों ने कहा कि जिस यूरिया का सरकारी मूल्य लगभग 266 रु प्रति बोरा है।उसे राजनगर प्रखंड क्षेत्र के बीज दूकानों में लगभग 400 से 450 रू प्रति बोरा बेचा जा रहा है।यूरिया की किल्लत के कारण जहां यूरिया मिल रहा है वहां किसानों से मनमानी कीमत वसूला जा रहा है।किसानों ने यह भी बताया कि पश्चिम सिंहभूम के चक्रधरपुर में अभी भी 266 रू प्रति बोरा यूरिया किसानों को मिल रहा है।और राजनगर में ऊंचे दाम में बिकने के बाद भी पर्याप्त मात्रा में नही मिल पा रहा है।लोग सुबह से ही बीज दुकान खुलने का इंतजार करते है और दुकान खुलते ही यूरिया बिकने लगता है।उसमें भी कुछ किसानों को मायूस वापस लौट जाना पड़ता है क्योंकि यूरिया समाप्त हो जाती है।और मजबूरन किसानों को यूरिया के लिए दूसरे जिले पूर्वी सिंहभूम जाना पड़ता है।जहां उन्हें दुगना दाम देना पड़ता है।

 

*सरायकेला/राजनगर से रवि कांत गोप की रिपोर्ट*

Related Post