मुहर्रम के मौके पर इमामबाड़ा में बना पंडाल, कोरोना की बली चढ़ गया निशान यात्रा , नामी पर मिलन समारोह एवं अलाव का कार्यक्रम भी हुआ रद्द-video

0
583

घाटशिला से कमलेश सिंह की रिपोर्ट

घाटशिला:-मुस्लिम धर्मावलंबियों की ओर से मातम का त्योहार मोहर्रम गुरुवार को मनाया गया। हजरत इमाम हुसैन की शहादत की याद में मनाया जाने वाले मोहर्रम को लेकर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए तैयारियां की गई। [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=4Y9FrDYlO1g[/embedyt]गुरुवार को सप्तमी के सात मुहर्रम की शुरुआत किया गया जो लगातार 4 दिनों तक चलेगा। रविवार 30 अगस्त को मुहर्रम का दशमी होगा। मुहर्रम को लेकर विभिन्न कमेटियों की ओर सामाजिक दूरी का पालन करते हुए

तैयारियां की गई। मऊ भंडार मुहर्रम कमेटी की ओर से इमामबाड़ा की साफ-सफाई के बाद बारिश को देखते हुए अस्थाई आकर्षक पंडाल भी तैयार किया गया। जिसमें विद्युत साज-सज्जा भी की गई गुरुवार की शाम इन बाड़ा में मुस्लिम धर्मावलंबियों की ओर से फातिहा पढ़ी गई एवं मन्नत का निशान भी चढ़ाया गया। इस तरह शुक्रवार को अष्टमी बनेगी शनिवार को नवमी के दिन भी फातिहा पढ़ी जाएगी। इस दिन सामाजिक दूरी के साथ आसपास के एरिया में जाकर कमरे के सदस्य निशान लेंगे वहीं दूरदराज क्षेत्र के लोग निंबाड़ा में ही आकर निशान चढ़ाएंगे रविवार को दशमी के दिन फातिहा एवं लंगर खाने का आयोजन किया जाएगा इसके साथ ही मोहर्रम का त्यौहार संपन्न हो जाएगा। जानकारी हो कि कोरोना

करुणा के कारण इस वर्ष मुहर्रम पर जुलूस नहीं निकलेगा और ना ही नवमी के दिन मिलन समारोह एवं अलाव का कार्यक्रम होगा दसवीं के दिन निशान यात्रा निकालकर चौक चौराहों पर खेल का प्रदर्शन किया जाता था। करुणा महामारी के कारण इस वर्ष निशान यात्रा समेत सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं मऊ भंडार में मुहर्रम के आयोजन में कमेटी के सदस्य का 1000 नायब सदर मंजर हुसैन सचिव अफरोज खान लाइसेंसी मोहम्मद रियाज कोषाध्यक्ष फिरोज आलम शेख मुर्तजा मजहर हुसैन सज्जाद खान समेत कमेटी के सभी सदस्यों की सक्रिय भूमिका रही।