रेलवे अपने कर्मचारियों के लिए लाया ‘रेल साइकिल’, जानें इसकी खूबियां

0
564

भुवनेश्वर:-भारतीय रेलवे ने अपने कर्मचारियों के लिए नई तरह की ‘रेल साइकिल’ लेकर आया है जो दैनिक निरीक्षण, निगरानी और पटरी की मरम्मत के कार्य से जुड़े स्टाफ के लिए मददगार होगी। पूर्वी तटीय रेलवे ने जानकारी दी है ।

* रेल साइकिल पटरियों पर औसतन 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी

पूर्व तटीय रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार
ये रेल साइकिल पटरियों की देखरेख से जुड़े कर्मियों की पटरियों के निरीक्षण और निगरानी में मदद करेंगी, खासकर मानसून के दौरान। इसमें कहा गया कि ये साइकिल गर्मी के मौसम में भी गश्त के दौरान काफी मददगार होंगी।
इस रेल साइकिल का वजह महज 20 किलो है, जिसे आसानी से उठाया भी जा सकता है। साइकिल के आगे के पहिए से लंबा पाइप जुड़ा हुआ है और इस पाइप में लोहे का छोटा पहिया लगा हुआ है, जो पटरी पर एक तरफ चलेगा। दूसरे तरफ की पटरी के लिए भी दो पाइप हैं। इसमें भी लोहे का पहिया लगाया गया है, वह दूसरी पटरी पर चलेगा।

* कुछ इस प्रकार रेल पटरी पर काम करेगा रेल साइकिल

साइकिल को बनाने में रेल कार्ट के दो पुराने पहिये और लोहे के दो पाइपों का उपयोग किया गया है। जो रेलवे ट्रैक पर साइकिल का बैलेंस बना रहेगा और पटरी से गिरने का खतरा नहीं होगा। इस पर दो व्यक्ति बैठ सकते हैं और इसकी औसत गति 10 किलोमीटर प्रति घंटा है। हालांकि रेल साइकिल को अधिकतम 15 किलेामीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी चलाया जा सकता है।