मासूम बच्ची के साथ बर्बरता करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया

0
604

यूपी:उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में मासूम बच्ची के साथ बर्बरता करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पोस्टमार्ट रिपोर्ट में मासूम के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।

आपको बता दें कि शुक्रवार को लखीमपुर खीरी के थाना ईसानगर क्षेत्र अंतर्गत गन्ने के खेत में 12 साल की बच्ची का शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। उसकी दोनों आंखें फूटीं थीं। गले में दुपट्टा कसा था तो पैर बंधे थे।
मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। थाना ईसानगर क्षेत्र के एक ग्रामीण की 12 वर्षीय पुत्री शुक्रवार को दोपहर दो बजे खेतों की ओर गई थी, लेकिन वह शाम तक घर नहीं लौटी।

इससे परिवार के लोग परेशान होने लगे और उसकी तलाश की। गांव में काफी तलाश करने के बाद जब बच्ची का कोई पता नहीं चला तो परिवार वालों ने गांव वालों के साथ मिलकर खेतों में खोज शुरू की। खोजबीन में घर से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर स्थित झन्नू यादव के खेत में बालिका का शव मिला था।

शव देख परिवार में कोहराम मच गया। बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौके पर पहुंच गए। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि बालिका की दोनों आंखें फूटी हुईं थी, उसके गले में उसी का दुपट्टा कसा था और दोनों पैर बंधे थे।

सूचना पर एएसपी अरुण कुमार सिंह, प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार सिंह के साथ मौके पर पहुंचे। पीड़ित परिवार और आसपास के लोगों से पूछताछ की। लखीमपुर खीरी एसपी सत्येंद्र कुमार का कहना है कि एफआईआर दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

इससे पहले शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने मामले को लेकर योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि यूपी के लखीमपुर खीरी के एक गांव में दलित नाबालिग के साथ दुष्कर्म के बाद फिर उसकी नृशंस हत्या अति-दुःखद व शर्मनाक। ऐसी घटनाओं से सपा व वर्तमान भाजपा सरकार में फिर क्या अन्तर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई करे, बीएसपी की यह मांग है।