Sun. Apr 14th, 2024

सुशांत प्रकरण: बिहार से केस ट्रांसफर मामले में सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा

फोटो, सुशांत सिंह राजपूत रिया चक्रवर्ती।

मुंबई :बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की कथित आत्महत्या के सिलसिले में दर्ज एक प्राथमिकी पटना से मुंबई स्थानांतरित किये जाने की बॉलीवुड अदाकारा रिया चक्रवती की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई जिसमें कोर्ट की अहम भूमिका रही ।

* कोर्ट में क्या कुछ रहा अहम आइए जानते हैं

केंद्र ने बुधवार को उच्चतम न्यायालय को सूचित किया कि उसने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बिहार सरकार की सीबीआई जांच की सिफारिश को स्वीकार कर लिया है। न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की पीठ ने कहा कि अभिनेता की मौत के पीछे का सच सामने आना चाहिए। केंद्र की ओर से पेश महाधिवक्ता तुषार मेहता ने न्यायालय को बताया कि बिहार सरकार की सीबीआई जांच संबंधी सिफारिश स्वीकार कर ली गई है

सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई पुलिस को लगाई फटकार

कोर्ट में सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने IPS ऑफिसर विनय तिवारी को मुंबई पहुंचते ही ‘जबरन क्वारंटाइन’ करने पर मुंबई पुलिस से सफाई मांगी है। पटना पुलिस के एसपी विनय तिवारी अभी भी क्वारंटाइन में हैं। पूरे मामले पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के माननीय न्यायाधीश के निर्देश का स्वागत करता हूं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि दर्ज एफआईआर पर जांच करने के लिए आधिकारिक ड्यूटी पर होने के बावजूद मुझे क्वारंटाइन कर दिया गया है। मेरे वरिष्ठ अधिकारियों ने महाराष्ट्र सरकार से बात की है लेकिन वे मुझे क्वारंटाइन से छूट नहीं दे रहे हैं। जांच में बाधा डालने की कोशिश हो रही है।
बता दें कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बिहार पुलिस द्वारा की जा रही जांच का नेतृत्व करने के लिए मुंबई पहुंचे पटना के पुलिस अधीक्षक विनय तिवारी को बीएमसी ने ‘जबरन क्वारंटाइन’ में भेज दिया है। बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के अधिकारियों ने तिवारी के हाथ पर क्वारंटाइन की मुहर भी लगा दी है जिससे संकेत मिलता है कि वह 15 अगस्त तक आइसोलेशन में रहेंगे। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि तिवारी रविवार को मुंबई पहुंचे थे और बीएमसी अधिकारियों ने देर रात उन्हें 14 दिन के लिए गोरेगांव में राज्य रिजर्व पुलिस बल के अतिथिगृह में क्वारंटाइन में भेज दिया है।

*सभी पक्षों को हलफनामा दायर करने का दिया निर्देश

कोर्ट ने मामले की जांच पर महाराष्ट्र सरकार से हलफनामा दायर करने के लिए कहा है। साथ ही सभी पक्षों को अपना जवाब दाखिल करने के लिए तीन दिनों का समय दिया गया है। कोर्ट अब इस मामले की सुनवाई अगले सप्ताह करेगा। रिया के वकील ने कोर्ट से प्रोटेक्टिव ऑर्डर की मांग की थी लेकिन शीर्ष अदालत ने इस अनुरोध को खारिज कर दिया। गौरतलब है कि सुशांत की मौत 15 जून को हुई थी। दिवंगत अभिनेता बॉलीवुड के सबसे चर्चित सितारों में से एक थे। उनका शव बांद्रा अपार्टमेंट में सीलिंग फैन से लटका पाया गया था। सुशांत के पिता ने रिया और उसके परिवार पर आत्महत्या, चोरी, धोखाधड़ी के आरोप लगाते हुए बिहार में मामला दर्ज कराया हैं।

Related Post