Sun. May 26th, 2024

सिंहभूम चैम्बर नें बिष्टुपुर डायगनल रोड के व्यापारियों पर पुलिसिया लाठीचार्ज की निंदा की

By Juhi Pradhan Apr 12, 2024

चैम्बर नें उपायुक्त से इस घटना की जांच एवं इसके लिये जिम्मेदार अधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की।

 

सिंहभूम चैम्बर ने बिस्टुपुर डायगानल रोड के व्यापारियों पर जेएनएसी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के द्वारा अतिक्रमण हटाने के दौरान किये गये बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा की है। लाठीचार्ज के दौरान राहगीरों,को भी नहीं बख्शा गया। चैम्बर कड़े शब्दों में इस बर्बरतापूर्ण लाठीचार्ज की निंदा करता है और इसका पुरजोर विरोध करता है। अध्यक्ष विजय आनंद मूनका ने जिला उपायुक्त से मांग की की कि इस घटना की त्वरित जांच करते हुये इसके लिये जिम्मेदारी अधिकारियों पर कार्रवाई की जाय।

 

अध्यक्ष ने कहा कि व्यापारी राष्ट्र एवं राज्य के सर्वांगीण विकास के लिये ईमानदारी पूर्वक करों का भुगतान कर अपना व्यापार करते हैं और उनके खिलाफ इस तरह की कार्रवाई अत्यंत ही निंदनीय है। चैम्बर अतिक्रमण का संरक्षक नहीं है। लेकिन अगर प्रशासन को अतिक्रमण हटाना ही है तो पहले दुकानदारों को नोटिस जारी किया जाना चाहिए था और माईक के द्वारा एनांउस कर व्यापारियों को अपने सामानों को हटाने के लिये समय दिया जाना चाहिए था। लेकिन ऐसे किसी भी कार्य को किये बगैर सीधे अतिक्रमण हटाना और अपने सामानों की रक्षा के लिये आगे आये दुकान मालिकों पर लाठीचार्ज करना यह एक पूर्वनियोजित मंशा को जाहिर करता है, चैम्बर इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगा।

 

चैम्बर ने प्रशासन एवं जेएनएसी अधिकारियों से सवाल करते हुये कहा कि प्रशासन के द्वारा अतिक्रमण के लिये दोतरफा रवैया अपनाया जाना कहां तक सही है। एक तरफ स्थाई दुकानदार टैक्स का भुगतान करते हैं, उनके खिलाफ इस तरह अमर्यादित व्यवहार और वहीं बाजार एवं सड़कों पर अतिक्रमण कर वर्षों तक व्यापार कर कमाई करने वाले और सरकार को कोई टैक्स नही देने वाले अतिक्रमणकारियों को पूरी तरह छूट दे दी जाती है।

 

चैम्बर के पदाधिकारियों महासचिव मानव केडिया,उपाध्यक्ष अनिल मोदी, अधिवक्ता राजीव अग्रवाल, पुनीत कांवटिया, अभिषेक अग्रवाल गोल्डी, सचिव भरत मकानी, अधिवक्ता अंशुल रिंगसिया, विनोद शर्मा, सुरेश शर्मा लिपु कोषाध्यक्ष अनिल रिंगसिया के अलावा सदस्यों ने इस तरह की घटना की भर्त्सना करते हुये कहा है इस घटना में जो भी जिम्मेदार अधिकारी हैं प्रशासन उनपर तुरंत संज्ञान लेते हुये कार्रवाई करे।

By Juhi Pradhan

कर्मभूमि जमशेदपुर

Related Post