Sat. May 25th, 2024

Plfi सुप्रीमो दिनेश गोप गिरफ्तार, NIA और झारखंड पुलिस के द्वार की गई कार्रवाई

Plfi सुप्रीमो दिनेश गोप गिरफ्तार, NIA और झारखंड पुलिस के द्वार की गई कार्रवाई।

 

30 लाख का इनामी है दिनेश गोप, झारखंड के कई थानों मे है दिनेश गोप पर केस।

 

 

झारखंड के प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के सुप्रीमो दिनेश गोप को एनआईए और झारखंड पुलिस ने संयुक्त रूप से अभियान चला नेपाल से दबोचा। दिनेश गोप को दिल्ली लाया जा रहा।

झारखंड के आतंक PLFI सुप्रीमो दिनेश गोप नेपाल में धरा गया। झारखंड पुलिस ने उसे धर दबोचा है। 30 लाख के इनामी दिनेश गोप को गिरफ्तार करने में झारखंड के IG Operation अमोल वेणुकांत होमकर और उनकी टीम की बेहतरीन सराहनीय भूमिका रही। उम्मीद है की आज शाम तक गिरफ्तार सुप्रीमो दिनेश गोप को रांची ले आया जाएगा। झारखंड पुलिस एक स्पेशल टीम इस काम में लगी हुई थी । झारखंड के नए DGP धीर-गंभीर अजय कुमार सिंह ने पद पर आने के बाद कोई लंबी चौड़ी बातें नहीं की, पर वह रह-रह कर चौंका देने वाला रिजल्ट देते रहे। कुछ दिन पहले गैंगस्टर अमन श्रीवास्तव भी धरा गया। वो भी पिछले एक दशक से फरार था। IG होमकर जैसे तल्ख और ईमानदार ऑफिसर DGP के साथ थे। अगर इरादा नेक और मजबूत हो तो किसी भी खूँटे को डगमगाया और उखाड़ा जा सकता है, यह कर दिखाया IG Operation अमोल वेणुकांत होमकर ने। उनकी नेतृत्व में पहले भी कई खूंखार उग्रवादी और माओवादी पकड़े गए और कुछ मारे गए।

दिनेश गोप के नेपाल में पनाह लिए जाने की खबर पुलिस तक पहुंची थी। उसके कई ठिकाने दिल्ली में भी है। सुप्रीमो दिनेश गोप के कई करीबी गुर्गे के पकड़े जाने के बाद पुलिस को दिनेश गोप के बारे में बहुत कुछ पता चल गया था। झारखंड पुलिस मुखिया अजय कुमार सिंह, IG Operation अमोल वेणुकांत होमकर नेतृत्व में गठित कुछ चुनिंदा पुलिस अधिकारियों को दिनेश गोप को खोज निकालने का टास्क दिया था

दिनेश गोप को खोज निकालने के लिए तत्कालिक हर DGP ने कोई कसर नहीं छोड़ी थी, पर दिनेश गोप हाथ नहीं लगा। दिनेश गोप के पास कई तरह के अत्याधुनिक हथियार है। रॉकेट लांचर तक पुलिस बरामद कर चुकी है। कुछ दिन पहले पुलिस ने खूंटी इलाके से उसके एक खास गिरफ्तार गुर्गे के पास से एक जर्मन राइफल और AK-47 बरामद की थी। बरामद जर्मन रायफल के बारे में बताया गया था कि यह हथियार दिनेश गोप खुद इस्तेमाल करता है। हालांकि दिनेश गोप की एक्टिविटी के बारे में अब तक कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है

फ़िलहाल मामले की आधिकारिक पुष्टि नहीं। मिली जानकारी सूत्रों से

Related Post