Sat. May 25th, 2024

टाटा मुख्य अस्पताल से बड़े पैमाने पर बरामद हुआ नशा पदार्थ चिलम और गांजा, अस्पताल प्रबंधन मौन।

जमशेदपुर के टाटा मुख्य अस्पताल में रविवार को बिष्टुपुर प्रशासन द्वारा छापेमारी के दौरान हैरान करने वाली जानकारी सामने आई है। अस्पताल के वार्ड संख्या 4a में बिष्टुपुर पुलिस द्वारा छापेमारी की गई तो वहां से बड़े पैमाने पर चिलम और गांजा बरामद किया गया। बिष्टुपुर थाना के सब इंस्पेक्टर तरुण कुमार एवं उनकी टीम द्वारा छापेमारी की गई। बताते चलें सोनारी थाना में पदस्थापित सब इंस्पेक्टर शशि भूषण सिंह के भाई का इलाज टाटा मुख्य अस्पताल में चल रहा है उनका इलाज 40 में हो रहा है। अपने पिता की देखरेख करने के लिए सब इंस्पेक्टर शशि भूषण के भतीजे रात्रि में वार्ड में ही थे वह उसी वार्ड में सो गए थे अचानक सुबह जब उठे तो हैरान कर देने वाली घटना आंखों के सामने दिखी देखा कि वहां उनका मोबाइल गायब है पूर्णविराम काफी देर तक मोबाइल की तलाश की गई लेकिन मोबाइल के बारे में कोई पता नहीं चल पाया। जिसके बाद उन्होंने अपने चाचा सब इंस्पेक्टर शशि भूषण को यह घटना की जानकारी दी। डिस्ट्रीब्यूटर थाने में एफ आई आर दर्ज कराया गया। जिसके बाद बिष्टुपुर थाना के सब इंस्पेक्टर तरुण कुमार द्वारा टीम गठित कर वार्ड में छापेमारी की गई और वहां मौजूद अटेंडरों से पूछताछ शुरू कर दी गई। के मांगो डिमना रोड का रहने वाला गौतम मंडल को प्रशासन ने पकड़ लिया जिसके बाद उसे कड़ाई से पूछताछ की गई जिसमें उसने स्वीकार किया कि उसने ही मोबाइल की चोरी की है। इसके बाद गौतम मंडल ने उक्त मोबाइल पुलिस को सौंप दिया अटेंडरों से बेहद कढ़ाई के साथ पूछताछ की गई। पूछताछ के बाद यह मालूम चला कि वहां अस्पताल से काफी अनैतिक काम भी कई दिनों से चल रहे हैं। अस्पताल के शौचालय समेत अन्य स्थानों पर प्रशासन द्वारा छापेमारी की गई जहां से नशा करने वाले पदार्थ चिलम और गांजा तक भी बरामद किया गया। हालांकि इस बारे में अस्पताल प्रबंधन कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। पुलिस द्वारा मामले की जांच की जा रही है।

By Aman Ojha

चार साल से पत्रकारिता में सक्रिय, राजनीति, सामाजिक और सम-सामायिक मुद्दों पर पैनी नजर। कर्मभूमि जमशेदपुर।

Related Post