Mon. Apr 22nd, 2024

Big Breaking “CORONA UPDATE” : झारखंड में कोरोना ने फिर से दी दस्तक

सुबह के स्वास्थ्य शाह आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि कोरोना के नए SOP पर मुख्यमंत्री से जल्द होगी चर्चा। बताते चलें कि छह मार्च तक राज्य में कोरोना का एक भी एक्टिव केस नहीं था। लेकिन मार्च के दूसरे सप्ताह से कोरोना का संक्रमण बढ़ने लगा। और अप्रैल 6 तक राज्य में कोरोना के 60 सक्रिय मरीज हैं। कोरोना के गंभीर फैलाव को देखते हुए शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडवीया ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के साथ कोरोना के हालात और राज्य की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की। मालूम हों कि पिछले 9 मार्च से लेकर 5 अप्रैल तक राज्य भर में 26023 संदिग्धों ने अपना कोरोना जांच कराया। वहीं इस जांच के दौरान 78 पॉजीटिव मरीज मिले और जिसका पॉजिटिविटी रेट 0.29% रहा। वहीं कोरोना को लेकर 9 मार्च से 15 मार्च तक राज्य भर में कुल 7622 सैंपल की जांच हुई थी। जिसमें 3 कोविड संक्रमित मरीज पाए गए। वहीं 16 मार्च से 22 मार्च तक 6535 सैंपल की जांच हुई और इस दौरान 16 संक्रमित मरीज मिले। 23 मार्च से 29 मार्च तक 6226 सैंपल की जांच हुई। इस दौरान 15 संक्रमित मरीज मिले। वहीं 30 मार्च 5 अप्रैल के बीच कुल 5640 सैंपल की जांच की गई और 44 संक्रमित मरीज मिले। हर हफ्ते के जांच के बाद कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 0.03% से बढ़कर 0.78% हो गया।
कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने वीडीयो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री के साथ मीटींग की। इस हाई लेबल की मीटींग में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना के मामले को लेकर वर्तमान स्थिति का जायजा लिया। इस बैठक में बैठक में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, ACS अरुण सिंह भी मौजूद रहे। बता दें राज्य में कोरोना के 60 एक्टिव मामले हो चुके है। कोरोना के प्रसार को रोकने और वास्तविक स्थिति को लेकर केंद्रीय मंत्री ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्रियों से बातचीत की। ज्ञात हो की बीते 24 घंटे में 11 नए संक्रमित मिले है। वहीं इसके साथ राजधानी रांची में कोरोना के एक्टिव मामले 14 हो गए हैं। वहीं देवघर में कोरोना के एक्टिव मामले अबतक 12 है। इधर कोरोना को लेकर झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता द्वारा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से ब्लड स्प्रेशन मशीन की मांग की गई.इसके साथ ही नर्सिंग कॉलेज की मान्यता के लिए भी मांग की गई। राज्य में कोरोना की वैक्सीन की भी मांग की गई। इसके साथ ही 4 आरटीपीसीआर मशीन की भी मांग की गई। बता दें 9 अप्रैल को कोरोना को लेकर बैठक की जाएगी जिसमें राज्य में कोरोना के लिए गाइड लाइन बनाया जायेगा। वहीं स्वास्थ्य मंत्री ने जानकारी दी कि झारखंड में आपात स्थिति के लिए करीब 12 हजार बेड तैयार है। वहीं 4 हजार आईसीयू बेड उपलब्ध है।

By Aman Ojha

चार साल से पत्रकारिता में सक्रिय, राजनीति, सामाजिक और सम-सामायिक मुद्दों पर पैनी नजर। कर्मभूमि जमशेदपुर।

Related Post