Sat. May 25th, 2024

पीएसएफ एवं श्री शनिदेव भक्त मंडली ट्रस्ट आदित्यपुर के एसडीपी रक्त वीर योद्धाओं ने रक्तदान के जरिए जमशेदपुर के संस्थापक जेएन टाटा जीके जन्मदिन पर उनके नाम समर्पित करते हुए किया नमन

” जे.एन.टाटा ” जी के सपनों का शहर जमशेदपुर जहां उनके जन्मदिन पर पूरा शहर जगमगा रहा है. वहीं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन एवं श्री शनिदेव भक्त मंडली ट्रस्ट आदित्यपुर के एसडीपी रक्तवीर योद्धाओं ने जमशेदपुर शहर के संस्थापक ” जे.एन.टाटा ” जी के नाम समर्पित करते हुए, जिस तरह से पूरा शहर जगमगा रहा है. उसी तरह से कई अंधेरारुपी जीवन में दीया जलाने का कार्य किया इन रक्तवीर योद्धाओं ने. आज इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए जहां पीएसएफ के ” उत्तम गोड़ाई ” जी ने अपना 30 बा सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी एसडीपी रक्तदान कर, जहां आज अपना ” 50 बा ” स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. साथ ही साथ ” शुभेंदु मुखर्जी ” जी ने 12 बा सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी एसडीपी रक्तदान करते हुए अपना ” 44 बा ” स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. ठीक इसी के साथ श्री शनिदेव भक्त मंडली ट्रस्ट आदित्यपुर के ” जयदेव बनर्जी ” जी ने अपना 11 बा सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी एसडीपी रक्तदान करते हुए ” 58 बा ” स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. इसी के साथ सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी एसडीपी रक्तदान के क्षेत्र में प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन ने अपना ” 377 बा रक्तदान ” के आंकड़े को भी पूर्ण कर लिया. जीवनदाई बनते हुए इन तीनों रक्तवीर योद्धाओं ने जमशेदपुर के संस्थापक रहे महापुरुष ” जे.एन.टाटा ” जी के नाम समर्पित करते हुए एक अनोखे अंदाज में ” जे.एन.टाटा ” जी को शत शत नमन करते हुए इस दिन को उनके नाम समर्पित किया. कहीं ना कहीं इस महापुरुष के सपने को साकार करते हुए, जमशेदपुर वासी बखूबी निभा रहा है अपना इंसानियत धर्म. आज इस पावन बेला पर रक्तदान करने के पश्चात तीनों रक्तवीर योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र के साथ-साथ प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया. इस पावन बेला पर जमशेदपुर ब्लड सेंटर के जीएम- संजय चौधरी, अनुभवी एवं वरीय चिकित्सक डॉक्टर लव बहादुर सिंह, अनुभवी तकनीशियन धीरज कुमार, प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के निर्देशक अरिजीत सरकार, कुमारेस हाजरा एवं श्री शनिदेव भक्त मंडली ट्रस्ट आदित्यपुर के संरक्षक देवव्रत घोष. उपस्थित रहे

Related Post