Sun. May 26th, 2024

समाजसेवी अमिताभ चटर्जी ने 11 बा एसडीपी रक्तदान के साथ पूरा किया अपना50 बा स्वैच्छिक रक्तदान

 

जमशेदपुर ब्लड बैंक एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के आह्वान पर, जाने-माने समाजसेवी सह प्रशासक एमटीएमएच, एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के मेंटर अमिताभ चटर्जी ने, मानव प्रेम के तहत मानवता का परिचय देते हुए, हमेशा समाज के लिए तत्पर रहकर अस्पताल में इलाजरत जरूरतमंद लोगों के लिए सूचना मिलने मात्र से ही, रक्तदान के जरिए अपने आप को समर्पित करते हुए प्रदान कर रहे हैं मानव सेवा. एमटीएमएच यानी कैंसर अस्पताल के प्रशासक के रूप में कार्यरत अमिताभ चटर्जी ने, एक कैंसर पीड़ित मरीज के लिए ही अपने कदम आगे बढ़ाते हुए जहां अपना ” 11 बा ” सिंगल डोनर प्लेटलेट्स यानी ” एसडीपी रक्तदान ” करते हुए, जहां अपना ” 50 बा ” स्वैच्छिक एवं सुरक्षित रक्तदान के आंकड़े को पूर्ण किया. इसी के साथ ” एसडीपी रक्तदान ” के क्षेत्र में ” प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन ” का ” 330 बा एसडीपी रक्तदान ” का आंकड़ा भी पूर्ण हो गया. स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में प्रथम पंक्ति में कार्य करते हुए विगत कई वर्षों से मानव सेवा के क्षेत्र में, अपने अतुलनीय योगदान के चलते हर के दिलों में एक अलग जगह बनाया है अमिताभ चटर्जी. आज उनके द्वारा अपना ” 50 बा रक्तदान ” के पश्चात जमशेदपुर ब्लड बैंक एवं प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन की ओर से सबसे पहले उन्हें फूलों का गुलदस्ता देकर एवं प्रशस्ति पत्र के साथ-साथ प्रतीक चिन्ह देकर जहां सम्मानित किया गया. वहीं उनके लिए मंगलकामना एवं दीर्घायु कामना हेतु भगवान से प्रार्थना किया गया. इस पावन बेला पर जमशेदपुर ब्लड बैंक के जीएम- संजय चौधरी, वरीय चिकित्सक डॉक्टर लव बहादुर सिंह, प्रतीक संघर्ष फाउंडेशन के निर्देशक अरिजीत सरकार, जमशेदपुर ब्लड बैंक के अनुभवी तकनीशियन अनूप कुमार श्रीवास्तव, सह तकनीशियन सुबीर, पीएसएफ के कर्मठ योद्धा एवं जाने-माने अधिवक्ता रंजन प्रसाद एवं विजोन सरकार. उपस्थित रहे

Related Post