Fri. Jun 14th, 2024

विभिन्न सवालों पर माले का एक दिवसीय उपवास कार्यक्रम। कहा, विरोध की आवाज दबाने के लिए मोदी सरकार करा रही है जासूसी।

विभिन्न सवालों पर माले का एक दिवसीय उपवास कार्यक्रम।

संवाददाता डिंपल् की रिपोर्ट गिरिडीह

कहा, विरोध की आवाज दबाने के लिए मोदी सरकार करा रही है जासूसी।

 

संविधान के खिलाफ साजिश बंद करने, पेगासस जासूसी कांड की न्यायिक जांच करने, किसान विरोधी तीनों काले कानून वापस लेने समेत कई स्थानीय सवालों को लेकर आज भाकपा माले बेंगाबाद प्रखंड कमेटी की ओर से पार्टी कार्यालय में एक दिवसीय सामूहिक उपवास कार्यक्रम आयोजित किया गया।

 

इसकी अगुवाई करते हुए प्रखंड सचिव शिवनंदन यादव तथा राजेंद्र मंडल ने संयुक्त रूप से कहा कि, मोदी सरकार भारत के संविधान की मूल भावना ही खत्म कर देना चाहती है। सरकार अपने विरोध में उठने वाली हर आवाज को दबा देना चाहती है। इसलिए पेगासस जासूसी कांड जैसे हथकंडे अपना रही है। लेकिन हिंदुस्तान की लोकतंत्र पसंद जनता फासीवादी मोदी सरकार की हर साजिश नाकाम करेगी।

 

वहीं, बतौर मुख्य वक्ता आज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पार्टी के राज्य कमेटी सदस्य राजेश कुमार यादव ने कहा कि, मोदी सरकार ने किसानों के खिलाफ तीनों काले कानून लाने तथा मजदूरों के खिलाफ श्रम कानूनों में संशोधन करके अपना इरादा जता दिया है कि उसकी प्राथमिकता में इस देश के किसान मजदूर नहीं बल्कि कारपोरेट हैं। मोदी सरकार इस देश के लोकतंत्र और संविधान की मूल भावना को खत्म कर देने पर आमादा है। पेगासस जासूसी कांड ने सरकार की इस भावना को और भी ज्यादा उजागर कर दिया है। इस मामले में सरकार निष्पक्ष जांच से भाग रही है। हम इसे लेकर न्यायिक जांच की मांग करते हैं, साथ ही गृह मंत्री अमित शाह से तत्काल इस्तीफे की मांग भी।

 

उन्होंने कहा कि, स्थानीय स्तर पर भी जनता के कई सवाल न सिर्फ खड़े हैं, बल्कि दिनों दिन विकराल होते जा रहे हैं। परन्तु, मौजूदा शासन को भी इसकी कोई फिक्र नहीं। गरीबों के राशन के धड़ल्ले से चोरी की जा रही है। कच्चे मकानों में रह रहे वैसे गरीब, जो लंबे अरसे तक गरीबों को मिलने वाले पक्के आवास से वंचित रहे, उन्हें इस बार भी ‘प्रधानमंत्री आवास प्लस योजना, से वंचित कर दिया गया है। अंचल स्तर की मनमानी और रिश्वतखोरी ने पुराने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। थाना पुलिस भी आम लोगों से किसी ना किसी बहाने भायादोहन करके लोगों से रकम वसूली का केंद्र बन गया है।

 

उपरोक्त सारे सवालों को लेकर आज पार्टी की ओर से एक दिवसीय सामूहिक उपवास कार्यक्रम आयोजित किया गया है। हम इस मुद्दे पर लगातार संघर्ष तेज करेंगे।

 

आगामी 9 से 15 अगस्त तक ‘कारपोरेट लूट से झारखंड बचाओ, जल-जंगल-जमीन बचाओ’ मुहिम के तहत ‘भारत बचाओ, मोदी-शाह हटाओ’ अभियान चलाया जाएगा, तथा इसके लिए 9 अगस्त ‘अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन दिवस’ की पूर्व संध्या पर 8 अगस्त को इस अभियान के समर्थन में एकजुटता प्रदर्शित की जाएगी।

 

आज के उपवास कार्यक्रम में उपरोक्त के अलावा रामलाल मंडल, फ़ोदार सिंह, शंभू ठाकुर, सुखदेव गोस्वामी, सुनील कुमार राय, कमरुद्दीन अंसारी, बड़का हेंब्रम, महेंद्र साव, भुदाली पंडित, कादिर अंसारी, दिलीप किस्कू, छोटेलाल हेंब्रम आदि मौजूद थे।

Related Post